निराश्रित, बुजुर्गों और दिव्यांगों पर भी विशेष ध्यान दें, सामुदायिक भोजनालय शुरू करने के सीएम योगी ने दिए निर्देश, - Ideal India News

Post Top Ad

निराश्रित, बुजुर्गों और दिव्यांगों पर भी विशेष ध्यान दें, सामुदायिक भोजनालय शुरू करने के सीएम योगी ने दिए निर्देश,

Share This
#IIN

निराश्रित, बुजुर्गों और दिव्यांगों पर भी विशेष ध्यान दें, सामुदायिक भोजनालय शुरू करने के सीएम योगी ने दिए निर्देश,


Lucknow-》 Hariom Singh Swaraj,      




-】 मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा 15 करोड़ लोगों को नि:शुल्क राशन दिया जा रहा है, लेकिन तमाम लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है। इनके खाने के लिए सामुदायिक भोजनालय शुरू किया जाए। निराश्रित लोगों, अकेले रह रहे बुजुर्गों, दिव्यांगजनों पर विशेष ध्यान दिया जाए। ऐसे लोगों के संक्रमित होने पर उनके साथ अतिरिक्त संवेदनशीलता का भाव रखा जाए। पुलिस, राजस्व और स्वास्थ्य विभाग की टीम इनके समुचित इलाज, भोजन आदि की व्यवस्था करे। ठंड के दृष्टिगत रैन बसेरों में भी समुचित प्रबंध रखे जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि  निगरानी समितियां गांवों में प्रधान के नेतृत्व में और शहरी वार्डों में पार्षदों के नेतृत्व में क्रियाशील रहें। घर-घर संपर्क कर बिना टीकाकरण वाले लोगों की सूची जिला प्रशासन को उपलब्ध कराएं, ताकि उन्हें टीकाकरण के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया जा सके।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि कोविड के मद्देनजर लोगों के खानपान का ध्यान रखा जाए। जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं है, उन्हें दोनों समय फूड पैकेट दिया जाएगा। इसके लिए सामुदायिक भोजनालय का संचालन शुरू किया जाए। मुख्यमंत्री रविवार को अपने सरकारी आवास पर कोविड की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे।

होम आइसोलेशन वाले मरीजों की निरंतर रखें निगरानी
मुख्यमंत्री ने कहा कि एग्रेसिव ट्रेसिंग, टेस्टिंग, त्वरित ट्रीटमेंट और तेज टीकाकरण की नीति से प्रदेश में कोविड की स्थिति नियंत्रण में है। चिकित्सा विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि यह संक्रमण कम तीव्रता वाला और वायरल फीवर की तरह है। सामान्य मरीज होम आइसोलेशन में रहकर चिकित्सक की सलाह से अपना इलाज कर सकते हैं। लेकिन, हर स्तर पर सावधानी जरूरी है। उन्होंने निर्देश दिया कि होम आइसोलेशन वाले मरीजों की निरंतर निगरानी की जाए। विभिन्न बीमारियों से पीड़ित मरीजों, बुजुर्गों और बच्चों को संक्रमण से बचाने पर विशेष ध्यान दिया जाए। उनकी निगरानी बढा़ई जाए। पॉजिटिव होने पर तत्काल मेडिसिन किट दी जाए।



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad