वैज्ञानिकों ने दिए राहत भरे संकेत, जानिए विस्तार से, क्या ओमिक्रॉन के जाते ही खत्म हो जाएगी कोरोना महामारी - Ideal India News

Post Top Ad

वैज्ञानिकों ने दिए राहत भरे संकेत, जानिए विस्तार से, क्या ओमिक्रॉन के जाते ही खत्म हो जाएगी कोरोना महामारी

Share This
#IIN

वैज्ञानिकों ने दिए राहत भरे संकेत, जानिए विस्तार से, क्या ओमिक्रॉन के जाते ही खत्म हो जाएगी कोरोना महामारी


डॉक्टर मिथिलेश श्रीवास्तव- स्वास्थ्य.



अध्ययनों में बताया जा रहा है कि वैसे तो ओमिक्रॉन वेरिएंट के कारण हल्के लक्षण होते हैं, लेकिन इसके प्रसार की दर डेल्टा की तुलना में 4 गुना अधिक है। यह न केवल भारत बल्कि दुनियाभर में जंगल की आग की तरह फैल रहा है। कोरोना के कारण बने डर और अनिश्चितता के बीच कुछ रिपोर्ट्स में जो दावा किया जा रहा है, वह काफी राहत भरा है। वैज्ञानिकों का कहना है कि संभवत: ओमिक्रॉन वेरिएंट के जाते ही दुनिया को कोरोना महामारी से राहत मिल जाएगी। वैज्ञानिक किस आधार पर इस तरह का दावा कर रहे हैं और क्या वास्तव में अब हमें कोरोना महामारी से जल्द ही राहत मिलने वाली है? आइए आगे की स्लाइडों में इस बारे में विस्तार से जानते हैं। 
 
दुनियाभर में कोरोना का ओमिक्रॉन वेरिएंट इस वक्त लोगों के लिए बड़ी समस्या का कारण बना हुआ है। देश में ओमिक्रॉन के बढ़ते मामले तीसरी लहर का कारण बन रहे हैं। भारत में बुधवार को 2.47 लाख से ज्यादा कोविड-19 के नए मामले दर्ज किए गए, जोकि मई 2020 के बाद सबसे अधिक है। कोरोना के इस तरह से तेजी से बढ़ते संक्रमण के कारण स्वास्थ्य विशेषज्ञ चिंतित हैं और सभी लोगों को लगातार सावधानी बरतते रहने की अपील कर रहे हैं। ओमिक्रॉन से पहले, भारत पिछले साल डेल्टा वेरिएंट के कारण दूसरी और बेहद खतरनाक लहर झेल चुका है।

लोगों में विकसित हो रही है मजबूत प्राकृतिक प्रतिरक्षा
प्रोफेसर इयान जोन्स कहते हैं, जैसा कि ओमिक्रॉन वैरिएंट में देखा जा रहा है कि इसके कारण संक्रमितों में हल्के लक्षण देखे जा रहे हैं। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि यह लोगों की संक्रमण से लड़ने की प्रतिरक्षा को बढ़ा सकती है। यदि आप किसी वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, तो शरीर में  निश्चित स्तर की प्रतिरक्षा विकसित हो जाती है, जो अगले संक्रमण के समय में रोग की गंभीरता को कम कर देती है। डेल्टा संक्रमण के समय लोगों में गंभीर लक्षण देखे गए, वहीं अब ओमिक्रॉन के लक्षण भी समय के साथ हल्के हो गए हैं, उम्मीद है कि आने वाले वर्षों में कोरोना के लक्षण और भी हल्के होते जाएंगे और फ्लू की ही तरह कोरोना वायरस भी सामान्य और कम प्रभाव वाला हो जाएगा। 

कम होता जाएगा कोरोना का असर
इंग्लैंड स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ रीडिंग के वायरोलॉजिस्ट प्रोफेसर इयान जोन्स कहते हैं, हम उम्मीद कर सकते हैं कि कोरोना महामारी संभवत: अब अपने आखिरी चरणों में है। फ्लू जैसे तमाम संक्रमणों की ही तरह कोरोना भी समय के साथ हल्का होता जाएगा। जैसा कि ओमिक्रॉन के मामले में अध्ययनों से पता चलता है कि यह स्वस्थ और फिट लोगों के लिए ज्यादा समस्या पैदा नहीं करता है, खतरा उन लोगों के लिए ज्यादा है जोकि पहले से ही कमजोर इम्युनिटी के शिकार है। वायरस की अब तक ऐसी ही प्रवृत्ति देखी जाती रही है, उसके लक्षण हर लहर के साथ कम होते जाते हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad