मुखबिरी के शक पर हुई थी कमल राजभर की हत्या एक गिरफ्तार, एक फरार - Ideal India News

Post Top Ad

मुखबिरी के शक पर हुई थी कमल राजभर की हत्या एक गिरफ्तार, एक फरार

Share This
#IIN

मुखबिरी के शक पर हुई थी कमल राजभर की हत्या एक गिरफ्तार, एक फरार

जयचन्द वाराणसी


वाराणसी: रोहनिया थाना अंतर्गत नकाईन कादीपुर ताल में कुछ दिनों पूर्व हत्या कर फेंके गए शव की शिनाख्त कमल राजभर के रूप में हुई थी जिस पर मृतक के परिजनों द्वारा अपने ही पड़ोसियों पर आरोप लगाया था कि हमारे लड़के का एक महिला से संबंध था जिसके चचेरे भाइयों ने मिलकर हत्या कर दी लेकिन रोहनिया पुलिस व क्राइम ब्रांच की विवेचना में यह स्पष्ट हुआ कि नान्हू यादव व छोटू सोनी उर्फ परमेश्वर ने मिलकर घटना को अंजाम दिया रोहनिया पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने छोटू सोनी को गिरफ्तार किया वही नान्हू यादव की तलाश की जा रही है रोहनिया थाना प्रभारी निरीक्षक विमल मिश्रा ने बताया कि पूछताछ में छोटू ने बताया कि दो वर्ष पूर्व कमल ने नान्हू के खिलाफ मुखबिरी की थी जिसका बदला लेने के लिए नान्हू और मैने  मिलकर कमल की हत्या की छोटू ने बताया कि नान्हू ने मुझे फोन करके बुलाया की कमल राजभर आज ताल की तरफ जायेगा वही हम लोगों को चलना है । सुबह करीब साढ़े नौ बजे नान्हू यादव पल्सर बाइक से मुझे पहाड़ी गेट पर मिला मैं और नान्हू यादव उसी बाइक से नकाइन,कादीपुर ताल के पास आयें तभी कमल राजभर का फोन नान्हू यादव पर आया तथा उन दोनों ने कुछ बात किया । कुछ देर बाद कमल राजभर भी पैदल नकाइन स्थित ताल पर आ गया । तालाब के किनारे जुआ हो रहा था । नान्हू जुआ खेलने लगा । तथा मै व कमल राजभर भी वही खड़े होकर देख रहे थे फिर नान्हू यादव ने कहा की चलो आज यही शराब पीते है । समय करीब डेढ़ बजे मैं, कमल व नान्हू यादव दफ्फलपुर स्थित अंग्रेजी शराब की दुकान से शराब लेने गये । नान्हू ने दुकान पर जाकर चार पाउच शराब खरीदा तथा वहीं से पानी का गिलास भी लिया हम लोग पुनः नकाइन स्थित तालाब पर आ गये नान्हू और कमल सभी चार पाउच शराब पी गये समय करीब साढ़े तीन बजे नान्हू ने मुझे 500 रु ० का नोट दिया तथा शराब लाने को कहा मैं नान्हू की पल्सर से दफ्फलपुर गये और चार पाउच शराब ले आये इस बार मैने भी दो पेग शराब पिया था शेष शराब नान्हू व कमल राजभर पिये थे कमल राजभर अपनी गिलास में ज्यादा शराब डाल रहा था अत्यधिक नशा होने के कारण वह लेट गया करीब शाम सवा छ बजे नान्हू ने मुझे 200 रुपया दिया तथा कहा की जाओ पल्सर में तेल डलवा लाओ करीब 20-25 मिनट में लठिया से पेट्रोल पम्प से तेल डलवा कर आ गया । कमल राजभर को अधिक नशा होने के कारण जमीन पर ही लेटा हुआ था नान्हू यादव ने मुझसे कहा की करीब दो साल पहले कमल राजभर ने मुखबीरी कर पुलिस को मुझे पकड़वा दिया था आज इससे बदला लेना है तो मैं भी दोस्ती के कारण तैयार हो गया । हम लोगों ने कमल राजभर का बेल्ट निकाल लिया तथा पहने सफेद रंग के जैकेट को भी निकाल लिया जैकेट को बगल में रख दिया तथा बेल्ट से कमल राजभर का गला कस दिये तथा दिवाल से उसके सर को लड़ा दिये मौके पर ही उसकी मृत्यु हो गयी इसके बाद नान्हू पल्सर बाइक से जाकर नायलान की रस्सी और प्लास्टिक की बोरी लेकर आया हम लोगों ने प्लास्टिक की बोरी में ईट भरकर बोरी को बांध दिया तथा कमल राजभर के दोनो पैर को बाँधकर गले में फंसाकर बांध दिया तथा उसकी लाश को घसीटते हुए तलाब के किनारे लाकर ईट भरी बोरी से बांध कर तलाब में ढकेल दिया जो गहरे पानी में चला गया इसके बाद जिस बेल्ट से हम लोग कमल राजभर का गला कसे थे उसे और उसकी जैकेट को मौके से करीब सौ मीटर दूरी पर ले जाकर जला दिये थे । गिरफ्तार करने वाली टीम में रोहनिया थाना प्रभारी निरीक्षक विमल कुमार मिश्र  उ0नि0 जमीलुद्दीन खाँन,उ0नि0 विनोद कुमार विश्वकर्मा,का0 अवनीश यादव,का0 अखिलानन्द पटेल व का0 अभिषेक पटेल 
क्राइम ब्रान्च प्रभारी निरीक्षक अश्वनी चतुर्वेदी उ0नि0 रजनिश त्रिपाठी,हे0का0 विजय शंकर राय,का0 शंकर गौतम,का0 अविनाश शर्मा,का0 अमित सिंह,का0 कुलदीप सिंह,का0 चन्द्रसेन सिंह,का0 तेजबहादुर,का0 अमित सिंह,का0 रमाशंकर यादव,का0 धर्मेन्द्र यादव सर्विलांस टीम
हे0का0 संतोष पासवान,
का0 मन्टु कुमार सिंह शामिल रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad