9 एमएम की पिस्टल की बैरल बदल कारबाइन चला रहे हैं अपराधी व नक्सली - Ideal India News

Post Top Ad

9 एमएम की पिस्टल की बैरल बदल कारबाइन चला रहे हैं अपराधी व नक्सली

Share This
#IIN

9 एमएम की पिस्टल की बैरल बदल कारबाइन चला रहे हैं अपराधी व नक्सली

कमल कुमार कश्यप 
रांची झारखंड बिहार 




झारखंड के अपराधी और नक्सली पिस्टल की गोली से कारबाईन चला रहे हैं |केवल पुलिस और सेना को सप्लाई की जाने वाली 9 एमएम की गोलियों का जुगाड़ मुश्किल हुआ तो अपराधियों उग्रवादियों और हथियार तस्करों ने इसका तकनीकी हल निकाल लिया |मुंगेर समेत बिहार झारखंड के विभिन्न स्थानों में अवैध हथियार बनाने वाले तस्करों ने अब कार्बाइन के बैरल की ही साइज और डिजाइन बदल दी है| बैरल में बदलाव कर उसे ऐसा बनाया गया है, कि उसमें 7 पॉइंट सिक्स फाइव एमएम की गोली फिट हो जाए| 2 दिन पहले ही रांची के चान्हो में पकड़े गए दो अपराधियों के पास से पुलिस को ऐसे कार्बाइन बरामद हुए हैं| अब तक मिली जानकारी के अनुसार मुंगेर के अलावा झारखंड के जंगली इलाकों में चल रही अवैध मिनी गन फैक्ट्री ओ में इस तरह के हथियार बनाए जा रहे हैं|
 बताया जाता है कि 9 एमएम की कारतूस मिलने में हो रही दिक्कत से परेशान हो, पकड़े गए अपराधियों के अनुसार अपराधियों और नक्सलियों को हाल के दिनों में नाइन एमएम की गोली और हथियार मिलने में दिक्कत हो रही है| पुलिस के हथियार व कारतूस लूटने से लेकर मिलीभगत व अन्य तरीकों का इस्तेमाल कर अपराधी इसका  जुगाड़ करते रहे हैं| सस्ती और निगरानी बढ़ने से दिक्कत बढी है, अपराधियों - उग्रवादियों ने जंगली इलाकों में संचालित अवैध मिनी गन फैक्ट्री ओं के संचालकों को सेवेन पॉइंट 65 एमएम की गोलियों और इसी बोर् के बैरल तैयार कर बदले डिजाइन की कार्रवाई का आर्डर देना शुरू किया है| इस डिमांड को देखते हुए अवैध हथियार बनाने वाले अब देसी कार्बाइन के डिजाइन की मॉडिफाइड कर अपराधियों को इसकी सप्लाई कर रहे हैं | इससे पिस्टल की गोली से भी कारबाईन चलाना संभव हो रहा है |
वही इस संबंध में ग्रामीण एसपी रांची नौशाद आलम ने बताया कि हाल के दिनों में अपराधियों के पास से बदली डिजाइन की कार्रवाईन की बरामदगी हुई है| मुंगेर से अवैध रूप से रांची और आसपास के इलाकों में तस्करी कर इस तरह के हथियार लाए जाते हैं| पुलिस इन नेटवर्क की तह पहुंचने में जुटी है, वहीं एसपी  रांची के ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने अपराधियों और सूत्रों से मिली जानकारी का हवाला देते हुए बताते हैं कि 7.65 बोर की मॉडिफाइड कार्रवाई इन अपराधियों को ₹55000 में सप्लाई की जा रही है| अपराधियों को कार्बाइन की लिए 9 एमएम की गोली के बजाय 7 पॉइंट 65 बोर की गोली खरीदने में पैसे भी कम लग रहे हैं|

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad