_*‘लव जिहाद : हिन्दू बहू तो चाहिए, पर हिन्दू दामाद नहीं !’ विषय पर ‘ऑनलाइन’ विशेष संवाद - Ideal India News

Post Top Ad

_*‘लव जिहाद : हिन्दू बहू तो चाहिए, पर हिन्दू दामाद नहीं !’ विषय पर ‘ऑनलाइन’ विशेष संवाद

Share This
#IIN

हिन्दू जनजागृति समिति की प्रेस विज्ञप्ति

दिनांक : 9.12.2021

Krishan Kumar Bind,



_*‘लव जिहाद : हिन्दू बहू तो चाहिए, पर हिन्दू दामाद नहीं !’ विषय पर ‘ऑनलाइन’ विशेष संवाद !*_

*‘लव जिहाद’ के विरोध में देशव्यापी कानून बनाएं !* - महंत यति मां चेतनानंद सरस्वती

 विगत 1400 वर्षों से हिन्दू युवती और महिलाआें के विरोध में जिहाद चलाया जा रहा है । हिन्दू युवतियों को फुसलाकर, फंसाकर ‘लव जिहाद’ के जाल में उलझाया जाता है । उनसे विवाह कर बाद में उनका शोषण किया जाता है । अब इसकी सीमा पार हो गई है । ‘लव जिहाद’ के अंतर्गत निकिता तोमर, तनिष्का शर्मा इन युवतियों के हत्याआें की हाल ही की घटनाआें से जिहादियों के मनोबल में वृद्धि हुई है । हिन्दू युवतियों और महिलाआें के बारे में ‘लव जिहाद’ एक राज्य की समस्या न हो कर राष्ट्रीय समस्या है । इसलिए पूरे देश में ‘लव जिहाद’ विरोधी कानून बनाया जाएं, ऐसी मांग गाजियाबाद की *डासना देवी मंदिर की महंत यति मां चेतनानंद सरस्वती* ने की । वे हिन्दू जनजागृति समिति आयोजित *‘लव जिहाद : हिन्दू बहू चाहिए, पर हिन्दू दामाद नहीं !*’ इस विषय पर आयोजित ‘ऑनलाइन’ विशेष संवाद को संबोधित कर रही थी ।

 *महंत यति मां चेतनानंद सरस्वती* ने आगे कहा कि, ‘विवाह’ और ‘निकाह’ में क्या अंतर है, यह हिन्दू अभिभावकों ने अपने बच्चों को सिखाया ही नहीं । जो हिन्दू युवक मुसलमान युवतियों से विवाह करते है, उनकी हत्या की जाती है, ऐसी अनेक घटनाएं सामने आई है । हिन्दुआें ने अब बचावात्मक भूमिका छोडकर अपनी युवतियों की रक्षा के लिए प्रयास करना चाहिए । 

 *सनातन संस्था की प्रवक्ता कु. कृतिका खत्री* ने कहा कि विवाह के उपरांत हिन्दू स्त्रियों को ‘अर्धांगिनी’ का पद देते हैं ।  ‘लव जिहाद’ एक षड्यंत्र है, जिससे हिन्दू युवतियों को बचाने की आवश्यकता है । इस विषय में समाज में जागृति करनी चाहिए । अपनी बेटीयों को धर्मशिक्षा देकर उन पर उचित संस्कार करना चाहिए । साधना के कारण हम लुप्त संतुलन पुन: प्राप्त कर सकते हैं । यदि हमने हिन्दू धर्म के विषय में हिन्दू युवतियों को नहीं सिखाया, तो धर्माभिमान हीन हिन्दू युवतियों को कोई भी बहलाकर भगाकर ले जाएगा ।  ‘इस्लाम’ क्या है ? उसमें महिलाआें के साथ किस प्रकार का वर्तन किया जाता है ? यह भी हमारी युवितयों को बताने की आवश्यकता है । 

*‘लव जिहाद’ भारत की जनगणना का संतुलन बिगाड रहा है !* - श्री. समीर चाकू

 हिन्दू युवतियों को फंसाने का ‘लव जिहाद’ सामूहिक  षड्यंत्र है । हिन्दू युवक होने का ढोंग कर मुसलमान युवक हिन्दू युवितयों को नियोजित षड्यंत्र में फंसा रहे हैं । हिन्दू युवतियों को मुसलमान युवक से शरियत कानून के अनुसार ‘निकाह’ करना पडता है । इस ‘निकाह’ के उपरांत भी उस महिला को संपत्ति अथवा अन्य अधिकार नहीं मिलते, यह ध्यान रखना चाहिए । हिन्दू युवतियों से ‘निकाह’ कर उनका शोषण कर उनकी हत्या की जाती है, उनसे वेश्या व्यवसाय करवाया जाता है, ऐसी अनेक घटनाएं सामने आई है । ‘लव जिहाद’ भारत की जनगणना का संतुलन बिगाड रहा है, ऐसा ‘*द लीगल हिन्दू’ के सहसंस्थापक और राष्ट्रीय समन्वयक श्री. समीर चाकू* ने कहा ।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad