महात्मा गांधी के जिक्र से पानी बचाने तक का संकल्प, स्वर्वेद महादेव धाम में पीएम मोदी के भाषण की बड़ी बातें, - Ideal India News

Post Top Ad

महात्मा गांधी के जिक्र से पानी बचाने तक का संकल्प, स्वर्वेद महादेव धाम में पीएम मोदी के भाषण की बड़ी बातें,

Share This
#IIN

महात्मा गांधी के जिक्र से पानी बचाने तक का संकल्प, स्वर्वेद महादेव धाम में पीएम मोदी के भाषण की बड़ी बातें, 


Varanasi-》 Jay chand,


-】महाभारत का किया जिक्र
आज गीता जयंती का पुण्य अवसर है। आज के ही दिन कुरुक्षेत्र की युद्ध की भूमि में जब सेनाएं आमने सामने थीं। तो मानवता को योग, आध्यात्म और परमार्थ का परम ज्ञान मिला था।

योग को जन-जन तक पहुंचाने का काम किया
सद्गुरु सदाफलदेव ने समाज के जागरण के लिए विहंगम योग को जन-जन तक पहुंचाने के लिए यज्ञ किया था। आज वो संकल्प बीज हमारे सामने इतने विशाल वट वृक्ष के रूप में खड़ा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी दौरे के दूसर दिन स्वर्वेद महामंदिर धाम में विहंगम योग के 98वें वार्षिकोत्सव को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने महात्मा गांधी, महाभारत, पानी बचाने, काशी के विकास और आत्मनिर्भर से लेकर कई बातों पर बात की। नीचे पढ़ें प्रधानमंत्री के संबोधन की महत्वपूर्ण बातें...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधन में कहा कि कल काशी ने भव्य विश्वनाथ धाम महादेव के चरणों में अर्पित किया, और आज विहंगम योग संस्थान का ये अद्भुत आयोजन हो रहा है। इस दैवीय भूमि पर ईश्वर अपनी अनेक इच्छाओं की पूर्ति के लिए संतों को ही निमित्त बनाता है।

हमारा देश इतना अद्भुत है कि यहां जब भी समय विपरीत होता है, तो कोई न कोई संत-विभूति, समय की धारा को मोड़ने के लिए अवतरित हो जाते हैं। ये भारत ही है, जिसकी आजादी के सबसे बड़े नायक को दुनिया महात्मा बुलाती है।

आजादी की लड़ाई में संतों का योगदान
आज देश आजादी की लड़ाई में अपने गुरुओं, संत और तपस्वियों के योगदान को स्मरण कर रहा है। नई पीढ़ी को उनके योगदान से परिचित करा रहा है। मुझे खुशी है कि विहंगम योग संस्थान भी इसमें सक्रिय भूमिका निभा रहा है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad