ग्राम पंचायत रोजगार सहायक को हटाने की बछरवारा के ग्रामीणों ने लगाई गुहार, ग्राम पंचायतो मैं इन दिनों बढ़ रहा भ्रस्टाचार लोगो को कर रहा परेसान, - Ideal India News

Post Top Ad

ग्राम पंचायत रोजगार सहायक को हटाने की बछरवारा के ग्रामीणों ने लगाई गुहार, ग्राम पंचायतो मैं इन दिनों बढ़ रहा भ्रस्टाचार लोगो को कर रहा परेसान,

Share This
#IIN

ग्राम पंचायत रोजगार सहायक को हटाने की बछरवारा के ग्रामीणों ने लगाई गुहार, ग्राम पंचायतो मैं इन दिनों बढ़ रहा भ्रस्टाचार लोगो को कर रहा परेसान,

आदर्श पांडेय



-】पन्ना जिले की अधिकांश ग्राम पंचायतों में धांधली भ्रष्टाचार की शिकायतें आए दिन सामने आ रही हैं मनरेगा के कार्य मजदूरों के बजाय मशीनों से करवाना, बिना निर्माण के राशि का आहरण करना, फर्जी बिल एवं फर्जी मस्टर के जरिए राशि निकालना, पीएम आवास में कमीशन, बिना निर्माण शौचालय की राशि का आहरण जैसी शिकायतें आम हो चुकी हैं, पन्ना जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत भुलगवा में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है जिसे सुनकर हर कोई हैरान है, मामला इस प्रकार है कि यहां ग्राम पंचायत भुलावा के ग्राम बछरवारा में तालाब निर्माण कार्य कराया जा रहा है  जहां 10 बजे मजदूर काम करने आते हैं और 11 बजे काम करके चले जाते हैं नाबालिक बच्चों से मनरेगा का कार्य करवाया जाता है जहां करोना की महामारी से गरीब मजदूर समस्या से जूझ रहे हैं वहीं     बेरोजगार हो गए हैं और वह अपने परिवार के भरण-पोषण को लेकर चिंतित हैं, जानकारी के अनुसार स्थानीय सरपंच एवं ग्रामीणों द्वारा रोजगार सहायक पंकज मिश्रा पर आरोप लगाए गए हैं कि दर्जनभर से अधिक ऐसे लोगों के नाम से मजदूरी की राशि निकाल ली जाती है  जो  कभी काम नहीं करते  है, इस अजीबोगरीब तरीके से किए गए भ्रष्टाचार से ग्राम वासियों में रोष है और काई  जनपद पंचायत से लेकर जिला प्रशासन तक शिकायती आवेदन सौंपा गया लेकिन काग़ज़ तक ही सीमित रहे गई कार्यवाही कार्रवाई हुए फसल सुरक्षा दीवार, मेड़ बंधान, खेत तालाब, सुदूर सड़क, सीसी रोड आदि कार्यों के मस्टर में  फर्जी हाजिरी डालकर राशि निकालने के अलावा गरीबों के पीएम आवास निरस्त कर कमीशन देने वालों के नाम आवंटित करने, शौचालय के नाम पर फर्जी राशि निकालने जैसे कई आरोप लगाए गए हैं, 

व/ओ 2-】ग्रामीणों ने रोजगार सहायक को हटाने की लगाई गुहार आखिर कर जिम्मेदार अधिकारी क्यों नहीं करते कार्यवाही उल्टा शिकायतकर्ताओं पर ही क्यूं दवाब बनाया ‌जाता है  क्या जिम्मेदार अधिकारियों की निष्क्रियता के चलते ही ग्राम पंचायत ‌क
 मनरेगा रोजगार गारंटी योजना में भ्रष्टाचार किया गया है, शिकायत कर्ताओं द्वारा लगाए गए आरोप काफी गंभीर हैं जिसकी सच्चाई उजागर करने के लिए उच्च स्तरीय जांच की आवश्यकता है, ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad