गोदाम प्रभारी निलंबित ढाई करोड़ रुपये की डीएपी बेचकर फरार, - Ideal India News

Post Top Ad

गोदाम प्रभारी निलंबित ढाई करोड़ रुपये की डीएपी बेचकर फरार,

Share This
#IIN

गोदाम प्रभारी निलंबित ढाई करोड़ रुपये की डीएपी बेचकर फरार,


Pratapgarh- pramod Kumar Tiwari


-】इसके बाद गोदाम प्रभारी फोन बंदकर फरार हो गया।
हो रही जांच, कहां बेची जा रही डीएपी
गोदाम प्रभारी की करतूत सामने आने के बाद अब अधिकारी इस जांच में जुटे हैं कि इतनी बड़ी मात्रा में डीएपी कहां बेेची गई। 1055 मीट्रिक टन डीएपी गोदामों से गायब करने के बाद कहां खपाई गई। पीसीएफ के कर्मचारी कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं हैं। गोदाम प्रभारी फरार है। ऐसे में अफसरों की परेशानी बढ़ गई है।

उन्होंने पीसीएफ से उन समितियों की डिटेल मांगी, जिसमें गोदाम प्रभारी खाद भेजने का दावा कर रहा था। सहकारिता विभाग के सभी कर्मचारियों को समितियों पर भेजकर वास्तविकता की जांच कराई और सचिवों से लिखित में लिया कि उनके यहां खाद नहीं आई है।
13 नवंबर को जब पीसीएफ गोदाम से खाद बेचने के मामले का खुलासा हुआ, तो जिला प्रबंधक गोदाम प्रभारी के बचाव में आ गए और अधिकारियों के दावे को झूठा बताते हुए समितियों पर खाद भेजने का दावा करने लगे। जब सहायक निबंधक ने अधिकारियों के सामने सचिवों को फोन मिलाकर वास्तविकता खंगाली तो उन्होंने चुप्पी साध ली। मामला जब डीएम के पास पहुंचा, तो उन्होंने गोदाम प्रभारी के खिलाफ फौरन मुकदमा दर्ज कराने के लिए कहा। 

पीसीएफ के खजोहरी, बडनपुर और मीराभवन स्थित गोदाम में रखी 1055.0 मीट्रिक टन डीएपी को बाजार में बेचकर फरार होने वाले गोदाम प्रभारी संतोष कुमार को अफसरों ने सोमवार की शाम निलंबित कर दिया। जिले के रानीगंज तहसील के दुर्गागंज बाजार का निवासी संतोष कुमार लगभग नौ साल से गोदाम प्रभारी था। अधिकारियों को खुश रखने वाले गोदाम प्रभारी के खेल का खुलासा पहली बार सहायक निबंधक सहकारिता अरविंद प्रकाश ने किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad