चौक इंस्पेक्टर डॉ आशुतोष तिवारी के बिदाई समारोह में नम हुई आंखे - Ideal India News

Post Top Ad

चौक इंस्पेक्टर डॉ आशुतोष तिवारी के बिदाई समारोह में नम हुई आंखे

Share This
#IIN

वाराणसी : चौक इंस्पेक्टर डॉ आशुतोष तिवारी के बिदाई समारोह में नम हुई आंखे

ए जावेद/ जयचन्द वाराणसी

वाराणसी। चुनाव आयोग के निर्देशानुसार वाराणसी के लगभग सभी थाना प्रभारियों का गैर जनपद स्थानांतरण हो गया है। इस क्रम में आज स्थानांतरित हुवे सभी थानों के प्रभारी निरीक्षकों की रवानगी हो गई और नए थाना प्रभारियों को पोस्टिंग मिल गई। इस लिस्ट में चौक थाना प्रभारी निरीक्षण डॉ आशुतोष तिवारी की भी आज रवानगी हो गई।
रवानगी के पूर्व आज चौक थाना परिसर में एसीपी दशाश्वमेघ अवधेश

कुमार पाण्डेय की उपस्थिति में एक विदाई समारोह क्षेत्र की जनता द्वारा आयोजित हुआ। डॉ आशुतोष तिवारी के स्थानांतरण से गमगीन थाना क्षेत्र के संभ्रांत नागरिको और क्षेत्र में तैनात पुलिस कर्मियों की आंखे नम हो गई। इस अवसर पर क्षेत्र के कई व्यापार मंडल के प्रतिनिधियो और क्षेत्रीय नागरिको का दोपहर 2 बजे के बाद से लेकर समाचार लिखे जाने तक जारी आने का सिलसिला जारी रहा। इसको मुहब्बत ही कहेंगे कि जो पुलिस कर्मियों का पहले अन्यंत्र स्थानांतरण हो चुका है वह पुलिस कर्मी भी आज डॉ आशुतोष तिवारी के बिदाई समारोह में उपस्थित रहे।
बताते चले कि चौक थाने पर विगत जून 2019 में चौक थाने पर तैनात डॉ आशुतोष तिवारी के कार्यकाल में उनके थाना क्षेत्र में कोई बड़ी आपराधिक घटना न होना उनकी एक बड़ी उपलब्धी रही है। वाराणसी के चौक थाने की गिनती संवेदनशील थानों में रही है। काशी विश्वनाथ मंदिर के आसपास ही अक्सर चेन स्नेच की घटनाएं आम थी। मगर डॉ आशुतोष तिवारी के कार्यकाल में इन घटनाओं पर ऐसा अंकुश लगा कि कोई एक पॉकेट भी किसी की नही कट पाई।
बहरहाल, डॉ आशुतोष तिवारी के स्थानांतरण के बाद नवनियुक्त थाना प्रभारी शिवाकांत मिश्रा के लिये यह एक बड़ी चुनौती है। क्षेत्र के एक तरफ बड़े आपराधिक गैंग पर नियंत्रण पाने वाले डॉ आशुतोष तिवारी के स्थानांतरण होने के उपरांत अब यह आपराधिक गैंग सर उठाने का प्रयास कर सकतें हैं। वही जिस दलालो के प्रवेश पर डॉ आशुतोष तिवारी ने अपने कार्यकाल में अंकुश लगाया वह एक बार फिर थाना परिसर में प्रवेश का प्रयास कर सकते है। देखना होगा कि इस शहर के लिये नये आये थानां प्रभारी इन सब पर कैसे नियंत्रण रखेगे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad