सर्दियों में हरी मटर का प्रयोग कई तरह से फायदेमंद होता है - Ideal India News

Post Top Ad

सर्दियों में हरी मटर का प्रयोग कई तरह से फायदेमंद होता है

Share This
#IIN
प्रियंका भोर, गाजियाबाद







सर्दी का मौसम आने वाला है और इस मौसम में अक्सर लोगों के घर में हरी मटर की आमद हो जाती है! शुरू शुरू में या भले महगा मिले लेकिन बाद में स्थिति में इसकी कीमत नार्मल हो जाती है
हरी मटर का इस्तेमाल ज्यादातर व्यंजनों में किया जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि हरी मटर से ​सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ता, ​बल्कि ये सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद है. Green Peas डायट्री फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट्स का लो फैट सोर्स है. इसका सेवन हेल्दी गट यानी पेट के माइक्रोबायोम के लिए अच्छा माना जाता है.



                                    Priyaka Bhor

पेट संबंधी बीमारियों में लाभ कर

हरी मटर में मौजूद फाइबर पेट के माइक्रोबायोम में गुड बैक्टीरिया के ग्रोथ को बढ़ाते हैं, जिससे डाइजेशन बेहतर होता है.  हरी मटर खाने से  इन्फ्लेमेटरी बॉवेल डिजीज इरिटेबल बाउल सिंड्रोम और कोलन कैंसर का खतरा कम होता है

साल 2009 की स्टडी के मुताबिक, फलीदार चीजें जैसे मटर को डाइट में शामिल करना पेट और दूसरे कई तरह के कैंसर के खतरे को 50 प्रतिशत तक कम कर सकता है. 


शारीरिक प्रतिरोधक क्षमता अर्थात  रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ाता है


हरी मटर खाना इम्यून सिस्टम के लिए अच्छा माना जाता है, इससे इम्यून सिस्टम और मेटबॉलिक फंक्शन पर अच्छा प्रभाव पड़ता है. रिसर्च के मुताबिक, हमारे इम्यून सिस्टम का 70 प्रतिशत फंक्शन पेट की हेल्थ पर ही निर्भर करता है. इसका सेवन पेट के लिए अच्छा है, इसलिए इम्युनिटी को भी मजबूत रखता है.


हार्ट हेल्थ के लिए


हरी मटर में मैग्नीशियम, पोटैशियम, कैल्शियम और फोलेट की भरपूर मात्रा होती है, इसलिए इसे खाना आपकी हार्ट हेल्थ के लिए भी अच्छा है. फोलेट विटामिन बी का एक प्रकार है, जो बॉडी में ब्लड सेल्स, डीएनए और आरएनए को प्रोड्यूस करने में मदद करता है. 


मेंटल हेल्थ 

प्रोटीन का भरपूर खजाना होने के साथ-साथ हरी मटर ने अन्य पौष्टिक तत्व होते हैं वह मानसिक ताकत को बढ़ाते हैं
हमारी खाने-पीने की आदतों का असर मेंटल हेल्थ पर भी पड़ता है. हेल्दी और फाइबर से भरपूर डाइट पेट के माइक्रोबायोम को बेहतर करती है और इसका प्रभाव आपके ब्रेन फंक्शन और ​बिहेवियर पर पड़ता है. एक स्टडी के मुताबिक, इससे आपका मूड बेहतर होता है और आप डिप्रेशन जैसी मानसिक समस्याओं से बचते हैं. 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad