अयोध्या की निगहबानी मॉडर्न कंट्रोल रूम से होगी, - Ideal India News

Post Top Ad

अयोध्या की निगहबानी मॉडर्न कंट्रोल रूम से होगी,

Share This
#IIN

अयोध्या की निगहबानी मॉडर्न कंट्रोल रूम से होगी,

Ayodhya -》 Dr. Tanveer Ahmad 



-】पूरी अयोध्या में 389 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। जिसमें अकेले 70 कैमरे श्रीराम जन्मभूमि क्षेत्र में हैं। अब इन सभी कैमरों की मॉनीटरिंग एक की कंट्रोल रूम से की जा सकेगी।
जानकारी के अनुसार एटीएस, एसटीएफ व आईबी की यूनिट भी अयोध्या में स्थापित करने के लिए जमीन की तलाश जोरों पर की जा रही है। पीएस बटालियन के लिए जमीन चिह्नित की जा चुकी है।

रामलला के दर्शन का समय बढ़ाने के साथ ही नया दर्शन मार्ग बनाने पर भी विचार हुआ है। साथ ही मॉडर्न कंट्रोल रूम स्थापित करने को लेकर भी चर्चा हुई है।
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार श्रीराम जन्मभूमि की सुरक्षा निगरानी के लिए अभी एक छोटा कंट्रोल श्रीराम जन्मभूमि पुलिस चौकी में बना है। यहीं से श्रीराम जन्मभूमि में लगे सीसीटीवी कैमरों की मॉनीटरिंग की जाती है।
अब आधुनिक कंट्रोल रूम बनाने की तैयारी है। इसके लिए दुराही कुआं के पास 12 हजार स्क्वायर मीटर जमीन भी चिह्नित की जा चुकी है। यह मॉडर्न कंट्रोल रूम आधुनिक संसाधनों व सुरक्षा प्रबंधों से लैस होगा।


रामलला के दर्शनमार्ग पर भी सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए जा रहे हैं। सभी दर्शन मार्ग पर श्रद्धालुओं की मूलभूत सुविधा के इंतजाम तो होंगे ही सुरक्षा की भी पुख्ता व्यवस्था होगी।
दर्शन मार्ग पर सेल्फी प्वाइंट भी बनाए जाएंगे। प्रकाश, पेयजल व बैठने आदि की व्यवस्था होगी। इसके अलावा भारी सुरक्षा बलों की तैनाती के साथ-साथ बैगेज स्कैनर व टायर किलर्स भी लगाए जाएंगे।


इसके लिए दुराही कुंआ के पास 12 हजार स्क्वायर मीटर जमीन चिह्नित भी की जा चुकी है। शीघ्र ही कंट्रोल रूम का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने दिसंबर 2023 तक भव्य गर्भगृह में रामलला के दर्शन का लक्ष्य तय किया है।
इस बीच अयोध्या में भक्तों की संख्या में तेजी से वृद्धि हो रही है। अनुमान है कि राममंदिर बन जाने के बाद प्रतिदिन एक लाख भक्त अयोध्या पहुंचेंगे। ऐसे में रामनगरी की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने की तैयारी शुरू हो गई है।
एक दिन पूर्व ही डीजीपी मुकुल गोयल की अध्यक्षता में श्रीराम जन्मभूमि स्थायी सुरक्षा समिति की बैठक में श्रीराम जन्मभूमि सहित पूरी अयोध्या की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मंथन किया गया है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad