50वां शहादत दिवस मनाया महावीर चक्र विजेता शहीद राम उग्रह पांडेय का, - Ideal India News

Post Top Ad

50वां शहादत दिवस मनाया महावीर चक्र विजेता शहीद राम उग्रह पांडेय का,

Share This
#IIN

50वां शहादत दिवस मनाया महावीर चक्र विजेता शहीद राम उग्रह पांडेय का,


 Ghazipur-》  Dr. S.K. Gupta



-】कार्यक्रम में अध्यक्ष देवनारायण सिंह, मीडिया प्रभारी सर्वानंद चौबे, राजेंद्र पांडेय, अनिल कुमार सिंह, भूतपूर्व सैनिक अच्छे लाल कनौजिया, भूतपूर्व सैनिक सतीराम सिंह, समारू राम, रामप्रवेश पांडे, मोहन राजभर, अरुण कुमार लाल, अमित कुमार पांडे, सुमित कुमार तिवारी और श्रवण राम उपस्थित रहे।
उधर, भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी शहीद राम उग्रह पांडेय का शहादत दिवस मनाया। कार्यकर्ताओं ने जखनिया रेलवे परिसर में शहीद की प्रतिमा की सफाई की। इस दौरान भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष प्रमोद वर्मा ने कहा कि शहीद राम उग्रह पांडेय ने भारत-पाक 1971 के युद्ध में अदम्य साहस का परिचय देते हुए कई बंकर को ध्वस्त किए। पाकिस्तानी सेना को रौंदते हुए देश के मान, सम्मान, स्वाभिमान ऊंचा करने के लिए खुद कंधे पर लांचर लेकर लगातार दागते हुए दुश्मन के सारे बंकरों को ध्वस्त किया और खुद शहीद हो गए। शहीद राम उग्रह पांडेय को मरणोपरांत महावीर चक्र प्रदान किया गया। 26 जनवरी 1972 को तत्कालीन राष्ट्रपति वीवी गिरी ने दिल्ली में गणतंत्र दिवस की परेड में शहीद की पत्नी श्यामा देवी को यह सम्मान प्रदान किया था। हम सभी को अपनी सेना का सम्मान करना चाहिए। इस दौरान कोतवाल शिवप्रताप वर्मा, बृजेंद्र राय, ग्राम प्रधान झुन्ना सिंह, भूतपूर्व सैनिक धीरेंद्र सिंह, मंडल अध्यक्ष उमाशंकर यादव, प्रशांत सिंह, धर्मवीर भारद्वाज, विनोद गिरी, वीरेंद्र पांडेय, राजदीपक सिंह, वायुनन्दन पांडेय, धर्मेंद्र कुशवाहा, मनोज राजभर ने शहीद प्रतिमा पर माल्यार्पण कर राष्ट्रगान के साथ श्रद्धांजलि अर्पित की।

शहीद रामउग्रह पांडेय जखनिया क्षेत्र के एमाबंशी गांव के निवासी थेे। वे 1971 के भारत-पाकिस्तान की लड़ाई में अदम्य वीरता का प्रदर्शन करते हुए वीरगति को प्राप्त हो गए थे। उनकी प्रतिमा जखनिया रेलवे स्टेशन परिसर में स्थापित की गई है। शहीद के शहादत दिवस पर मंगलवार को क्षेत्र के लोगों ने एकत्रित होकर शहीद की मूर्ति पर श्रद्धासुमन अर्पित किया। इस दौरान कार्यक्रम के प्रमुख आयोजक सर्वदलीय तहसील विकास एवं जनकल्याण संघर्ष समिति के अध्यक्ष देवनारायण सिंह ने कहा कि ऐसे वीर सपूत को जन्म देने वाले माता-पिता को भी मैं नमन करता हूं। रामउग्रह पांडेय ने अपना ही नहीं बल्कि परिवार और जिले का नाम रोशन किया था। ऐसे वीर सपूत को हृदय से श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं । नौजवानों से आग्रह है आप भी देश के लिए इनके साहस पराक्रम से सीख लें।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad