आपसी भाईचारा और आपस मे मोहब्बत स्थापित करने से ही इंसानियत पैदा होगी;-डॉ. सैय्यद आसिफ़ अली - Ideal India News

Post Top Ad

आपसी भाईचारा और आपस मे मोहब्बत स्थापित करने से ही इंसानियत पैदा होगी;-डॉ. सैय्यद आसिफ़ अली

Share This
#IIN

आपसी भाईचारा और आपस मे मोहब्बत स्थापित करने से ही इंसानियत पैदा होगी;-डॉ. सैय्यद आसिफ़ अली 

शरद कपूर, काजिम हुसैन





खैराबाद।सीतापुर
रहीमाबाद की दरगाह में मखदूम सैय्यद अब्दुर्रहीम अलैहिर्रहमा रहीमाबादी का तीन दिवसीय उर्स 25 अक्टूबर की रात में क़ुल शरीफ के बाद के समाप्त  हो गया  क़ुल शरीफ़ के अवसर पर बड़े मखदूम साहब के सज्जादानशीन नजमुल हसन शोएब मियां ने कहा कि हमे आपस मे मेल मिलाप से रहना चाहिए और भाईचारा कायम करना चाहिए तथा हमे अपने चरित्र को उत्तम बनाना होगा तभी हम कामियाब हो सकते हैं वरना सब कुछ बेकार हो जाएगा।जबकि दरगाह मतवल्ली सैय्यद आसिफ अली ने कहा कि हम सबको मिलकर आपसी भाईचारा कायम रखना होगा और एक दूसरे से मोहब्बत से मिलना चाहिए।इससे पूर्व तीन दिवसीय उर्स में पहले दिन ख्वाजा क़ुतुब साहब का फातेहा तथा महफिले समा हुई दूसरे दिन रात में दरगाह मतवल्ली डॉ सैय्यद आसिफ अली के मकान  से चादर  मदनी मियां की सरपरस्ती में तथा मतवल्ली आसिफ अली  की उपस्थिति में दरगाह पहुंची जहां क़व्वाली हुईं  तीसरे दिन सुबह क़ुरआन ख़्वानी तथा असर की नमाज़ के बाद क़व्वाली प्रारम्भ हुईं ततपश्चात क़ुल शरीफ हुआ।
इस अवसर पर उपस्थित लोगों में बड़े मखदूम साहब के सज्जादानशीन शोएब मियां,मदनी मियां,सैय्यद सूफ़ी इज़हार मौलाना अमानुल्लाह, शहाब खान,शकील गयावी,मोहम्मद इरफान लखनऊ,पप्पू मियां इलाहाबाद,डॉ सैय्यद रेहान रिज़वी, डॉ मसरूर अली,सैय्यद इश्तियाक़ अली वारसी,हाफ़िज़ ख़ुसरो,मौलाना मोहम्मद फैजान अज़ीज़,गुड्डू,मोहम्मद जलीस,शौकत अली लखीमपुर, सैय्यद साबिर अली,,सैय्यद वसीम अहमद,तय्यब उस्मानी, अर्सलान  हसनी,पूर्व सभासद शाहिद अली,सिराजुल हसन, गोदी वारसी,इमरान सिद्दीकी, पूर्व ज़िला पंचायत सदस्य इंतेज़ार अली,  हाजी सैय्यद इफ़्तेख़ार अली, सैय्यद माजिद अली,आरिफ अली एडवोकेट, मुन्ना , गुलफाम खान,आदि उपस्थित थे अंत मे मुल्क में अमन शांति के लिए हाफ़िज़ ख़ुसरो ने दुआ कराई जिस पर सभी ने आमीन कहा इसके बाद उपस्थित जनसमुदाय को प्रसाद वितरित किया गया और लंगर भण्डारे का भी सैय्यद आसिफ ने आयोजन किया लंगर अर्थात भंडारे का कार्य शमसाद खान,सिद्दीक़ खान,छोटे पठान,अब्दुल करीम,इशरत खान,भूरे,सिराज खान आदि ने कुशलता पूर्ण किया। अंत में मतवल्ली डॉ सैय्यद आसिफ अलीने सभी का आभार व्यक्त किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad