उन्मादियों के हत्थे चढ़ गए गणेश शंकर विद्यार्थी ..! - Ideal India News

Post Top Ad

उन्मादियों के हत्थे चढ़ गए गणेश शंकर विद्यार्थी ..!

Share This
#IIN 

उन्मादियों के हत्थे चढ़ गए गणेश शंकर विद्यार्थी ..!


 सन्तोष कुमार नागर सोनभद्र



----पार्वती कुटीर में मनी 131वीं जयंती पर पत्रकारों ने किया याद 

सोनभद्र । मीडिया फोरम ऑफ इंडिया (न्यास) के बैनर तले रॉबर्ट्सगंज के अखाड़ा मुहाल स्थित 'पार्वती कुटीर' में मंगलवार को पत्रकारिता धर्म का निर्वाह करते हुए अपने जीवन को समिधा सम होम कर देने वाले क्रांतिकारी पत्रकार गणेश शंकर विद्यार्थी की 131 वी जयंती पर उन्हें याद किया गया । संस्था के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार मिथिलेश प्रसाद द्विवेदी की अध्यक्षता में विद्यार्थी जी की जयंती पर उनके कृतित्व - व्यक्तित्व पर विचार विनिमय हुआ । सोन साहित्य संगम के संयोजक एवं पत्रकार राकेश शरण मिश्र और गीत कस्तूरी साहित्यिक संस्था की 
संस्थापिका डॉ. रचना तिवारी
और पत्रकार भोलानाथ मिश्र
के विचार विमर्श का आशय स्पष्ट था की जब-जब समाज मे विघटन की स्थिति बनती रहती है तब-तब कलमकार अपनी कलम से और स्वयं के बलिदान से देश को राह दिखाते आए हैं ।
       अध्यक्षता कर रहे न्यास के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष मिथिलेश प्रसाद द्विवेदी ने कहा कि वास्तव में गणेश शंकर विद्यार्थी प्रखर पत्रकार तो थे ही साथ ही साथ वे एक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भी थे । उन्होंने कहा वे एक निडर , निर्भीक और बेजोड़ सामाजिक समरसता के महानायक भी थे । पत्रकारिता धर्म के निर्वहन में अपने को दंगाइयों के बीच झोंक दिया और उन्मादियों ने उनके पंच तत्व से बने शरीर को नष्ट कर दिया ।
      गीत कस्तूरी संस्था की निदेशक और प्रदेश की जानी
मानी कवयित्री डॉ. रचना तिवारी ने कहा शाहिद -ए- आज़म भगत सिंह भी जिससे प्रभावित थे वे कोई मामूली हस्ती नहीं थे । अपनी कलम की धार से ब्रिटिश हुकूमत की नींद हराम करने वाले विद्यार्थी जी सामाजिक सौहार्द को मजबूत बनाए रखने के लिए अपने को बलिदान कर देने वाले
ऐसे कलम के सिपाही को सदैव उदाहरण के रूप में प्रस्तुत किया जाता रहेगा ।
     सोन साहित्य संगम के निदेशक एवं पत्रकार राकेश शरण मिश्र ने कहा कि 26 अक्टूबर 1890 को
प्रयागराज के अतरसुइया मुहल्ले में एक कायस्थ परिवार में विद्यार्थी जी का जन्म हुआ था । 25 मार्च  1931 को दंगाइयों ने कानपुर के चौबे गोला
 चौराहे पर चाकू घोंपकर उनकी निर्मम हत्या कर दिया। 
     मीडिया फोरम आफ इंडिया (न्यास) के जिलाध्यक्ष राजेश गोस्वामी ने कहा कि
गणेश शंकर विद्यार्थी एक आदर्श पत्रकार , स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और महान समाज सुधारक थे । इसके पूर्व क्रांतिकारी कलमकार गणेश शंकर विद्यार्थी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें शत-शत नमन किया गया। इस मौके पर संतोष कुमार नागर,  ज्ञानदास कनौजिया, प्रमोद गुप्ता, मनोज कुमार तिवारी, रामजी दुबे, विनय सिंह चंदेल, इमरान बक्शी, संजीव कुमार श्रीवास्तव समेत दर्जनों पत्रकार मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad