उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सर्वोच्च न्याायालय के निर्देशों के अनुसार ईको फ्रेंडली पटाखों के विक्रय और उपयोग के संबंध में जारी किए दिशा-निर्देश* - Ideal India News

Post Top Ad

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सर्वोच्च न्याायालय के निर्देशों के अनुसार ईको फ्रेंडली पटाखों के विक्रय और उपयोग के संबंध में जारी किए दिशा-निर्देश*

Share This
#IIN
हरिओम सिंह स्वराज लखनऊ 

*उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सर्वोच्च न्याायालय के निर्देशों के अनुसार ईको फ्रेंडली  पटाखों के विक्रय और उपयोग के संबंध में जारी किए दिशा-निर्देश* 






*प्रदेश के अपर मुख्य सचिव  अवनीश कुमार अवस्थी ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए सभी मंडलायुक्तों, जिलाधिकारियों और पुलिस अधिकारियों को जारी किए निर्देश*.......

 *दिए गए आदेश के मुताबिक......जिस क्षेत्र की वायु गुणवत्ता मॉडरेट अथवा बेहतर होगी.......वहां संबंधित अधिकारियों द्वारा  ( ईको फ़्रेंडली ) हरित पटाखों  के विक्रय और उपयोग की दी जा सकती है अनुमति* ........

*जारी किए गए निर्देशों में कहा गया है कि एनजीटी और सर्वोच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के अधीन कोविड-19 महामारी की परिस्थिति के दृष्टिगत प्रदेश में ईको फ्रेंडली  ( हरित पटाखों ) का विक्रय एवं निर्धारित समय सीमा के अंदर उपयोग किया गया है अनुमन्य*......

*गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा यूपी के 27 शहरों में वायु गुणवत्ता की ..... की जा रही ..... मॉनिटरिंग*    ........

 *इस साल यानी 2021 में जनवरी से सितंबर तक प्रदेश के कई शहरों जैसे- गोरखपुर ,वाराणसी ,लखनऊ, कानपुर, आगरा, सोनभद्र, गजरौला, गाजियाबाद, हापुड़, , नोएडा, फिरोजाबाद, झांसी, खुर्जा, प्रयागराज, मेरठ, मुरादाबाद, बरेली, रायबरेली, मथुरा, सहारनपुर, उन्नाव, ग्रेटर नोएडा, मुज्जफ्फरनगर, बागपत, बुलन्दशहर अलीगढ़ और अयोध्या में वायु गुणवत्ता का स्तर  पाया गया है मॉडरेट*........

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad