आरक्षण नहीं तो गठबंधन नहीं,यूपी में 169 सीटों पर वीआईपी लड़ेगी चुनाव : मुकेश सहनी - Ideal India News

Post Top Ad

आरक्षण नहीं तो गठबंधन नहीं,यूपी में 169 सीटों पर वीआईपी लड़ेगी चुनाव : मुकेश सहनी

Share This
#IIN 

आरक्षण नहीं तो गठबंधन नहीं,यूपी में 169 सीटों पर वीआईपी लड़ेगी चुनाव : मुकेश सहनी

RajNarayan Vishwakarma



वाराणसी। विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के संस्थापक सह बिहार सरकार के पशुधन एवं मत्स्य संसाधन मंत्र मुकेश सहनी ने कहा कि आरक्षण नहीं तो किसी से गठबंधन व किसी का समर्थन नहीं। वीआईपी का उदय निषाद आरक्षण आंदोलन से हुआ है जिसका मकसद निषाद समुदाय की मल्लाह,केवट,बिन्द, कश्यप,धीवर,गोड़िया आदि को अनुसूचित जाति का आरक्षण दिलाना है। साहनी गुरुवार को रामनगर के सूजाबाद में आयोजित निषाद आरक्षण जनचेतना रैली को संबोधित कर रहे थे।उन्होंने कहा कि गिड़गिड़ाने से किसी को दया आ जाये तो भीख दे सकता है,आपका अधिकार नहीं।आरक्षण पाने के लिए अपनी ताकत को मजबूत करना होगा,अपने वोट की कीमत पहचानना होगा।देश की राजधानी दिल्ली, पश्चिम बंगाल,उड़ीसा में 1950 से निषाद समाज की जातियों को अनुसूचित जाति का आरक्षण मिला हुआ है,तो उत्तर प्रदेश,झारखण्ड, बिहार,मध्यप्रदेश की निषाद जातियों को क्यों नहीं?जब एक देश एक संविधान है तो निषाद जातियों को अलग अलग श्रेणियों में क्यों रखा गया है।उन्होंने कहा कि 2014 से 2018 तक निषाद विकास संघ के माध्यम से बड़े बड़े धरना प्रदर्शन,रैली कर आरक्षण मांगता रहा,पर सरकार ने ध्यान नहीं दिया।इसलिए राजनीतिक ताकत बनाने के लिए वीआईपी को बनाया।2020 के विधानसभा चुनाव में राजग के अंग बन 11 सीटों पर अपने नाव चुनाव चिन्ह पर लड़ाया,4 विधायक बने।बिहार के बहुमत के समीकरण में जितना महत्व भाजपा के 74 सीटों का है उतना ही महत्व वीआईपी के 4 विधायकों का है। 74 विधायकों के हटने से भी बिहार सरकार गिर जाएगी और 4 विधायकों के हटने से भी बहुमत खो देगी।आज बिहार में अपने समर्थन की सरकार है,इसलिए राज्याधीन निषाद समाज के कल्याण के जो काम हैं,वे आसानी से समाज को मिल रहे हैं। मुकेश सहनी ने कहा कि कोई राम को मानता है कोई रहीम को,हम फूलन देवी जी को मानने वाले हैं।हमारे लिए पूज्यनीया व आदर्श फूलन देवी जी हैं।हमने उनकी 20 वीं पुण्यतिथि पर 25 जुलाई को उत्तर प्रदेश के 18 जिलों में 118-18 फ़ीट ऊँची प्रतिमा स्थापित कर माल्यार्पण हेतु भेजा,पर जातिवादी सरकार ने लगने नहीं दिया।हमे माल्यार्पण करने से रोक दिया।इसी सूजाबाद गाँव में माल्यार्पण करने आना था,पर उत्तर प्रदेश सरकार के इशारे पर यूपी पुलिस ने हमें बाबतपुर एअरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने दिया।हमने भी निर्णय लिया है कि हम फूलन देवी जी को गाँव गाँव पहुंचाएंगे।उत्तर प्रदेश में फूलन जी की 50 मूर्तियाँ,5 लाख लॉकेट व 10 लाख कैलेंडर बंटवाएँगे।उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में 169 सीटों को चिन्हित किया गया है,जहाँ मजबूत निषाद वोटबैंक है।जातिगत समीकरण को साधकर मिशन-2022 में प्रत्याशी उतारेंगे और मजबूती से चुनाव लड़ेंगे।”आरक्षण नहीं तो गठबंधन नहीं”,हमारा नारा है।हम अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं।उचित लगा तो सामाजिक न्याय आधारित दल से गठबंधन कर मजबूती से लड़ेंगे।वीआईपी किंग नहीं तो किंगमेकर बनेगी।हम अपने वोट की ताकत दिखाना चाहते हैं।मुकेश सहनी ने कहा कि आदरणीय प्रधानमंत्री जी जब 2014 में वाराणसी चुनाव लड़ने आये तो कहे कि माँ गंगा ने बुलाया है और अपने को चाय बेचने वाला बताया।हम तो असली गंगापुत्र हैं,जब चाय वाला प्रधानमंत्री बन सकता है तो 2022 में नाव वाला विधायक क्यों नहीं बन सकता?सुजाबाद के मैदान मे सुबह11 बजे का कार्यक्रम रखा गया किन्तु मंत्री मुकेश साहनी का हेलीकाप्टर दोपहर दो बजकर बीस मिनट पर लैंड किया कार्यकताओं ने जोश भरे नारो से उनका स्वागत करते हुये मंच पर ले गये और प्रदेश महासचिव अनुराग सिंह यादव अन्नु व इं. अमित कुमार सिंह पटेल ने तलवार,धनुष बाण व मछली भेंट कर मुकेश सहनी व प्रदेश अध्यक्ष .लौटनराम निषाद का स्वागत किया। निषाद आरक्षण जनचेतना रैली को राष्ट्रीय अध्यक्ष सन्तोष सहनी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमेश साहनी,राजराराम बिन्द, राष्ट्रीय सचिव कृष्णा बिन्द, निषाद विकास संघ के प्रदेश अध्यक्ष श्यामलाल निषाद, वीआईपी के प्रधान प्रदेश महासचिव रामानन्द निषाद, प्रदेश महासचिव अनुराग सिंह यादव अन्नु, प्रदेश उपाध्यक्ष हरिशंकर निषाद, जगदीश नारायण निषाद, अयोध्या प्रसाद निषाद,प्रदेश सचिव ओपी कश्यप,राजू निषाद,झगड़ू राम निषाद,मनोज यादव,वाराणसी, चंदौली, ग़ाज़ीपुर,जौनपुर ,सोनभद्र के जिलाध्यक्ष सूचित कुमार साहनी,मिथलेश बिन्द, अरबिंद कुमार बिन्द प्रधान,इंद्रजीत निषाद एडवोकेट,हिमांचल साहनी,इं. अमित कुमार सिंह पटेल,के के पांडेय,सीमा कश्यप,अंजू बिन्द, रंजना साहनी, दूधनाथ निषाद,खुशबू श्रीवास्तव आदि ने भी संबोधित किया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad