छह घंटे बाद मिला वेंटीलेटर, सांसों ने छोड़ा साथ- पीजीआई, लोहिया संस्थान और केजीएमयू के बीच दौड़ता रहा मरीज, - Ideal India News

Post Top Ad

छह घंटे बाद मिला वेंटीलेटर, सांसों ने छोड़ा साथ- पीजीआई, लोहिया संस्थान और केजीएमयू के बीच दौड़ता रहा मरीज,

Share This
#IIN

छह घंटे बाद मिला वेंटीलेटर, सांसों ने छोड़ा साथ- पीजीआई, लोहिया संस्थान और केजीएमयू के बीच दौड़ता रहा मरीज,

Hariom singh swaraj- Lucknow



-》 प्रयागराज के रहने वाले गुलाब सिंह (50) को करीब चार दिन पहले तेज बुखार आया था। परिजनों ने पहले नजदीकी अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराया मगर वहां पर कोई फायदा न मिला। इस दौरान मरीज की हालत गंभीर होती चली गई। उसे वेंटीलेटर स्पोर्ट की जरूरत बताकर पीजीआई भेजा गया। मंगलवार रात परिजन मरीज को लेकर पीजीआई पहुंचे। वहां पर घंटों तक मरीज एंबुलेंस में पड़ा तड़पता रहा मगर भर्ती नहीं किया गया। आखिर में एंबुलेंस चालक मरीज को लेकर निजी अस्पताल में वेंटीलेटर दिलाने का झांसा देकर भर्ती करा दिया। रात भर में निजी अस्पताल ने वेंटीलेटर व इलाज के नाम पर 90 हजार रुपये वसूल लिए। 

लखनऊ में वेंटीलेटर डिब्बों में पैक रखे हैं या उनका संचालन नहीं हो पा रहा है। ऐेसे में अति गंभीर मरीजों को वेंटीलेटर न मिलने से उनकी जान जा रही है। बुखार से ग्रस्त एक मरीज तीन अस्पतालों की दौड़ लगाने के छह घंटे बाद ट्रॉमा में वेंटीलेटर मिला। ऐसे में कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गई। परिजनों का कहना है पहले पीजीआई एपेक्स ले गए थे। वहां पर कोविड अस्पताल होने की वजह से भर्ती नहीं किया गया। मरीज को बुखार संग सांस लेने की तकलीफ हुई थी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad