पन्ना पुलिस ने सुलझाई अंधे हत्याकाण्ड की गुत्थी* - Ideal India News

Post Top Ad

पन्ना पुलिस ने सुलझाई अंधे हत्याकाण्ड की गुत्थी*

Share This
#IIN

*पन्ना पुलिस ने सुलझाई अंधे हत्याकाण्ड की गुत्थी* 

Adarsh pandey- Panna 

*जप्त सामग्री -*  घटना में प्रयुक्त होण्डा साइन मोटरसाइकिल , आरोपियों के 03 मोबाइल, मृतक का 01 मोबाइल, मृतक के खून से लथपथ मृतक की रजाई, कम्बल एवं चद्दर । 

*सराहनीय योगदान -*  निरीक्षक अरुण कुमार सोनी, उनि0 ईश्वर सिंह, उपनिरी0 राहुल यादव, उनि सरिता तिवारी, सउनि रामकृष्ण पाण्डेय, सउनि विक्रम सिह, सायबर सेल से प्र.आर. नीरज रैकवार ,राहुल सिंह बघेल, आरक्षक आशीष अवस्थी, धर्मेन्द्र सिंह राजावत ,राहुल पाण्डेय, थाना कोतवाली पन्ना से प्र.आर.अरुण अहिरवार, कमलेश शर्मा, आरक्षक बीरेन्द्र अहिरवार, राजीव मिश्रा, महेन्द्र चढ़ार, प्रदीप पाण्डेय, दीपप्रकाश, शिशुपाल, शिवकुमार मीणा चालक प्र.आर. मुन्ना कोल आर. रविप्रकाश खरे, महिला आर. दीक्षा यादव एवं सी.सी.टी.व्ही कन्ट्रोल रूम से उनि प्रमोद जाटव, आर. कुलदीप शुक्ला, निरंजन त्रिफला, विपिन पाण्डेय और राहुल द्विवेदी 
 थाना देवेन्द्रनगर से - उपनिरीक्षक अभिषेक पांडे थाना प्रभारी देवेन्द्रनगर  उ नि शक्ति प्रकाश पांडेय सउनि मान सिंह आरक्षक दिलीप शर्मा, सत्यवीर का सराहनीय योगदान रहा है । पुलिस अधीक्षक पन्ना द्वारा उक्त पुलिस टीम को  5000 रूपये के ईनाम से पुरुस्कृत करने की घोषणा की गई है ।


*• पैसों के लेन-देन को लेकर दोस्त की हत्या करने वाले 03 आरोपी गिरफ्तार*

*• आरोपियों के कब्जे से घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल ,आरोपियों द्वारा इस्तेमाल किये गये 03मोबाइल , मृतक का 01 मोबाइल एवं मृतक के कमरे से गायब खून लगे मृतक के 02 कम्बल, 01 रजाई, 01 चद्दर जप्त* 

*घटना का संक्षिप्त विवरण -* दिनाँक 09/09/2021 को फरियादी ने थाना कोतवाली पन्ना में आकर रिपोर्ट किया कि मेरा छोटा भाई पन्ना में किराये के मकान में रहता था जो दिनांक 06/09/2021 दिन सोमवार को शाम करीब 06.00 बजे से कहीं गायब है पिछले 02 दिन से फोन नहीं उठा रहा है जिसके बारे में मैनें अपने परिवार के साथ मिलकर अपने रिश्तेदारी में फोन लगाकर पता किया जो कोई पता नही चला तो मैने उसके किराये के कमरा मे जाकर देखा तो कमरे में ताला लगा मिला आस पास किराये से रहने वाले लोगो से भी पूँछा, तो उनके द्वारा बताया गया कि वह पिछले दो-तीन दिन से कमरा नही आया और फोन लगाने पर फोन नहीं उठा रहा है । फरियादी की रिपोर्ट पर थाना कोतवाली पन्ना में गुमने की रिपोर्ट पर गुम इंसान क्रमांक 80/21 कायम किया जाकर जाँच में लिया गया ।

 *पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही –* थाना प्रभारी कोतवाली पन्ना निरीक्षक अरूण सोनी द्वारा घटना के संबंध में संपूर्ण जानकारी पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री धर्मराज मीना को बताई गई । पुलिस अधीक्षक पन्ना द्वारा घटना को गंभीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक पन्ना के निर्देशन, अनु0अधि0 पुलिस पन्ना श्री बहादुर सिंह बारीबा के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी कोतवाली पन्ना के नेतृत्व में मामले की जाँच हेतु 01 पुलिस टीम का गठन किया गया जिसमें पुलिस सायबर सेल टीम पन्ना को शामिल किया जाकर घटना के संबंध में जानकारी एकत्रित करते हुये पुलिस टीम द्वारा घटनास्थल के आसपास एवं पन्ना शहर में लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरो के माध्यम से फुटेज देखे गये पुलिस टीम द्वारा गुमशुदा के बैंक खाता की जानकारी निकलवाये जाने पर पता चला कि घटना के बाद भी गुमशुदा व्यक्ति के बैंक खाता से पन्ना स्थित अलग-अलग ए.टी.एम. बूथों एवं मोबाइल वॉलेट से पैसो का लेन-देन हुआ है उक्त लेन-देन के बारे में पुलिस द्वारा पता किया गया तो जानकारी मिली कि गुमशुदा व्यक्ति के 01 करीबी दोस्त को गुमशुदा व्यक्ति के बैंकिंग के सभी गोपनीय पासवर्ड एवं ए.टी.एम. कार्ड का पिन पता था पूर्व में भी गुमशुदा व्यक्ति के पैसो को ए.टी.एम. से यही दोस्त निकालता था । बैकिंग जानकारी एवं पुलिस सायबर सेल पन्ना से मिली जानकारी के आधार पर  पुलिस द्वारा संदिग्ध व्यक्ति (गुमशुदा का करीबी दोस्त) को पुलिस अभिरक्षा में लिया जाकर पूँछताछ की गई जिसके द्वारा बताया गया कि गुमशुदा व्यक्ति मेरा काफी अच्छा दोस्त था जिसके कमरा में मेरा आना जाना था एवं उससे मेरा पैसों का लेनदेन था पूर्व में करीब 02 माह पहले मैने अपने 01 अन्य दोस्त को जरूरत पड़ने पर गुमशुदा व्यक्ति से उधार 20 हजार रूपये लेकर दिये थे इसके बाद अभी करीब 20 दिन पहले मैनें फिर से अपने भतीजे की फीस जमा करने के लिये गुमशुदा व्यक्ति से 17 हजार रूपये उधाऱ लिये थे इस बात को लेकर गुमशुदा व्यक्ति शराब पीकर मुझे गाली-गलौज करता था इस बात को लेकर मैनें 06/09/21 को अपने 02 दोस्तो को फोन करके पन्ना बुलाया जिन्हे रात में होटल में रूकवाकर 06-07/09/21 की दरम्यानी रात दोनो दोस्तो को लेकर मैं मोटरसाइकिल से गुमशुदा व्यक्ति के कमरा गया तो देखा वह सो रहा था तो मैने 315 बोर के कट्टा से उसकी कनपटी में फायर कर दिया जिससे वो मौके पर ही खत्म हो गया मृतक के सिर से खून निकल रहा था उसे रोकने के लिये मैने कमरे में रखे चद्दर से मृतक का सिर बाँध दिया उसके बाद मैनें अपने दोस्त के साथ मिलकर मृतक को उसके कमरे में रखी रजाई, कम्बल एवं चद्दर में लपेट कर मोटर साइकिल में रखकर अमझिरिया के जंगल में फेंक दिया है एवं मृतक का मोबाइल और ए.टी.एम. कार्ड मैनें अपने जेब में रख लिया था । इसके बाद मैनें मृतक के ए.टी.एम. से पैसा निकाले एवं मोबाइल में बने गूगल पे वॉलेट के माध्यम से भी लेनदेने करके मृतक का बैंक खाता खाली कर दिया पुलिस को गुमराह करने के लिये मैनें गूगल पे हिस्ट्री में मृतक द्वारा किये गये पुराने लेन-देन में फिर से बिना किसी कारण के पैसों का ट्रान्जेक्शन कर दिया । इसके बाद मैनें मृतक का मोबाइल साइंस कॉलेज के पास एवं ए.टी.एम. कार्ड भी तोड़कर मैनें नाली में फेक दिया । पुलिस टीम द्वारा संदेही के बताये अनुसार अमझिरिया जंगल से मृतक के शव को बरामद किया गया । मृतक के शव को पी.एम. हेतु पुलिस टीम द्वारा जिला अस्पताल पन्ना लाया गया एवं आरोपियों के विरूद्ध थाना कोतवाली पन्ना में हत्या का अप.क्र.  817/21 कायम किया गया एवं आरोपी के बताये अनुसार मामले के 02 अन्य आरोपियों को उनके घर से पुलिस अभिरक्षा में लिया जाकर मेमोरेण्डम कथन लेख कर आरोपी के बताये अनुसार मृतक का मोबाइल साइंस कॉलेज के पास से  बरामद किया जाकर पुलिस टीम द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार किया गया गिरफ्तारशुदा तीनो आरोपियों को माननीय न्यायालय पन्ना पेश किया जा रहा है । 



 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad