बीएचयू में छात्र और अस्पतालकर्मी भिड़े, सिंहद्वार बंद कर धरना प्रदर्शन, माहौल बिगड़ते-बिगड़ते बचा, - Ideal India News

Post Top Ad

बीएचयू में छात्र और अस्पतालकर्मी भिड़े, सिंहद्वार बंद कर धरना प्रदर्शन, माहौल बिगड़ते-बिगड़ते बचा,

Share This
#IIN

बीएचयू में छात्र और अस्पतालकर्मी भिड़े, सिंहद्वार बंद कर धरना प्रदर्शन, माहौल बिगड़ते-बिगड़ते बचा, 

Dr. U.S Bhagat 




वाराणसी । बीएचयू में सोमवार की सुबह एक बार फिर माहौल बिगड़ने से बच गया। बीएचयू अस्पताल में बिरला-सी हॉस्टल के छात्रों और अस्पताल के एमटीएस कर्मचारियों के बीच मारपीट के बाद मामला बिगड़ गया। छात्रों के खिलाफ कर्मचारी पहले चीफ प्राक्टर दफ्तर पहुंचे। वहां से सिंहद्वार पहुंचे और गेट बंद कर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। कुछ देर में वहां बिरला के भी छात्र पहुंचने लगे। विवाद को बढ़ता देख भारी संख्या में पुलिस फोर्स भी पहुंच गई। इससे पहले कि मामला बिगड़ता छात्रों को वहां से हटाकर कर्मचारियों को भी समझाबुझाकर हटाया गया। बताया जाता है कि बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल के गैस्ट्रोलॉजी विभाग के ओपीडी में सोमवार की सुबह बिरला सी में रहने वाले छात्र किसी को दिखाने पहुंचे थे। पहले दिखाने को लेकर वहां तैनात एमटीएस कर्मचारियों से छात्रों का विवाद हो गया। कर्मचारियों का आरोप है कि छात्रों ने विक्की नामक कर्मचारी की पिटाई कर दी। मारपीट की जानकारी होते ही सभी एमटीएस कर्मचारी काम छोड़कर पहले चीफ प्रॉक्टर कार्यालय पहुंचे। वहां सुरक्षा गार्डों ने सभी को वापस कर दिया तो बीएचयू के मुख्य गेट सिंहद्वार पहुंचे और गेट को बन्द कर धरने पर बैठ गए।  सिंहद्वार बन्द होने की सूचना पर पहुंचे इंस्पेक्टर लंका महेश पांडेय पीएसी के जवानों के साथ पहुंचे। गेट बंद कर बिरला छात्रावास के छात्रों के खिलाफ विरोध कर रहे कर्मचारियों को समझाने का प्रयास किया लेकिन सभी मानने के लिए तैयार नहीं हुए। इसी बीच बिरला के भी छात्र वहां पहुंचने लगे तो पुलिस के हाथ पांव फूल गए। एसीपी भेलूपुर प्रवीण कुमार सिंह भेलूपुर, रामनगर, मंडुआडीह थानों की फोर्स के साथ पहुंचे। धरना प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों का कहना था कि आए दिन छात्र जबरी ओपीडी में घुसकर दिखाते हैं। कुछ कहने पर मारपीट करते हैं। गैस्ट्रोलॉजी की ओपीडी में बिरला सी में रहने वाले अभिषेक नामक छात्र अपने एक साथ किसी को दिखाने के लिए लेकर पहुंचा। वहां बिना नंबर ओपीडी में दिखाने के लिए घुस गए। मारपीट कर चेन और अंगूठी छीन ले गए। कुछ देर बाद में एसीपी भेलूपुर ने कर्मचारियों से बातचीत कर सिंहद्वार को खुलवाया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad