सदियों से चली आ रही ये पंरपरा- मातृ नवमी पर सीता कुंड में स्नान और तर्पण के लिए उमड़ी महिलाओं की भीड़, - Ideal India News

Post Top Ad

सदियों से चली आ रही ये पंरपरा- मातृ नवमी पर सीता कुंड में स्नान और तर्पण के लिए उमड़ी महिलाओं की भीड़,

Share This
#IIN

सदियों से चली आ रही ये पंरपरा- मातृ नवमी पर सीता कुंड में स्नान और तर्पण के लिए उमड़ी महिलाओं की भीड़, 

Akhilesh mishra bagi, Mirzapur



-》 महिलाओं ने सौभाग्य सामग्री का दान भी दिया। यह प्रथा सदियों से चली आ रही है। मान्यता है कि इस स्थान पर माता सीता ने वनवास के दौरान अपने पूर्वजों के लिए तर्पण किया था। तब से ही यह पंरपरा चली आ रही है। ऐसी मान्यता है कि इस श्राद्ध के करने से सुहागिन स्त्रियों का सौभाग्य बढ़ता है। पितरगण प्रसन्न होते हैं। 

मातृ नवमी तिथि पर विंध्याचल स्थित अष्टभुजा के पहाड़ी पर स्थित सीता कुंड पर महिलाओं ने स्नान के बाद तर्पण किया। गुरुवार अहले सुबह से ही सीता कुंड पर स्नान करने के लिए महिलाओं का रेला उमड़ पड़ा। सीताकुंड पर स्नान बाद महिलाओं ने तर्पण कर अपने पूर्वजों को याद किया।

पितृपक्ष के बारे में 
भारतीय संस्कृति में पितरों के लिए एक पक्ष ही निर्धारित कर दिया गया है, जो आश्विन मास से कृष्ण पक्ष के नाम से है, उसे लोग पितृपक्ष के नाम से जानते हैं। पितरों के उद्देश्य से पूर्णिमा से आरंभ होकर, प्रतिपदा से अमावस्या तक कुल सोलह तिथियों का उल्लेख है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad