यह क्या हो रहा है योगीराज में?? माफिया फरार और भूस्वामी सभी सबूतों के कागज लेकर ऑफिस दर ऑफिस ठोकरें खाने पर मजबूर? - Ideal India News

Post Top Ad

यह क्या हो रहा है योगीराज में?? माफिया फरार और भूस्वामी सभी सबूतों के कागज लेकर ऑफिस दर ऑफिस ठोकरें खाने पर मजबूर?

Share This
#IIN
डॉ प्रमोद वाचस्पति जौनपुर
यह क्या हो रहा है योगीराज में??  माफिया फरार और भूस्वामी सभी सबूतों के कागज लेकर ऑफिस दर ऑफिस ठोकरें खाने पर मजबूर? 

                    पीड़ित पत्रकार मोहम्मद कामरान उर्फ मोनू


मामला ही कुछ ऐसा है की प्रयागराज जनपद के महेवा क्षेत्र के निवासी और पत्रकार /संपादक  मोहम्मद    कामरान उर्फ मोनू जो सिवाय पत्रकारिता के और कुछ नहीं जानते थे ,आज उन्हें परिस्थितियों ने बहुत कुछ जानने पर मजबूर कर दिया!  पुश्तैनी जमीन पर भू माफियाओं ने कब्जा कर लिया और करोड़ों की जमीन को अधिकारियों की मिलीभगत से लुटता हुआ देखकर किसी का भी कलेजा दहल उठेगा! ऐसा ही कुछ वाकया मोनू जी के साथ भी हुआ है! 
मोहम्मद कामरान उर्फ मोनू महेवा की सारे आदेशों के बाद करछना थाना नैनी तहसील करछना थाना इंचार्ज क्यों नहीं ले रहे हैं कोई ठोस कदम? भूमि कब्जा कर मोहम्मद अयूब खान निवासी 292 दारागंज 40 50 लोगो के साथ अवैध तरीके से कब्जा करवा कर लेखपाल मोहम्मद नसीम को पैसा खिलाकर चौकी इंचार्ज  से रिपोर्ट लगवा
कर जबरन पुश्तैनी जमीन को कब्जा कर भाग निकला भोपाल! बुलाने पर भी नहीं आ रहा है वापस! क्योंकि उसे भली-भांति मालूम है दबंगई से जमीन को कब्जा किया है! कोई कागजात ना होते हुए जबकि उसी जमीन में 232/2 मैं 290 गज जमीन खरीदा था 680 जमीन कब्जा कर भाग निकला भोपाल !

एस आई के फोन करने पर वापस नहीं आ रहा है क्या प्रशासन दिला पाएगी  यह जिसकी पुश्तैनी जमीन??
 या   सारे सबूत और कागजात के  होते हुए भी न्याय पाने से रहेगा वंचित? 
माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के सरकार में क्या इसी  तरीके से होता रहेगा शोषण? भूमाफियाओं का चलेगा राज? 
एक तरफ तो योगी सरकार भू माफियाओं के जमीनों पर से किए गए कब्जों को बेदखल कर रही है और उन्हें जेल के सलाखों के पीछे ढकेल रही है क्या शासन प्रशासन के लोग इतने आंख बंद करके और जुबान बंद करके बैठे हैं कि उन्हें कुछ भी नहीं दिखाई पड़ रहा है? 
माननीय जिलाधिकारी को तुरंत संज्ञान में लेते हुए इस तरह के अवैध खेले गए घेरे गए बाउंड्री वाल को तुरंत ध्वस्तीकरण का आदेश देना  चाहिए! 



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad