*पांचवीं बार विधानसभा पहुंचने की ललक में हैँ ललई* - Ideal India News

Post Top Ad

*पांचवीं बार विधानसभा पहुंचने की ललक में हैँ ललई*

Share This
#IIN 

*पांचवीं बार विधानसभा पहुंचने की ललक में हैँ ललई*

Om prakash gupata,




शाहगंज जौनपुर: पाँचवीं बार विधानसभा पहुंचने की ललक में ललई यादव ने अभी से चुनावी बिगुल फूंक दिया है।वह लगातार क्षेत्र में बैठकें और सभाएं कर जनता की नब्ज टटोल रहे हैं।सियासी मठाधीशों को साधने की कोशिश भी कर रहे हैं।उनकी टीम के युवा कार्यकर्ता भी महीने भर से गावों की खाक छानते नज़र आ रहे हैं।
जिले की शाहगंज विधानसभा क्षेत्र के विधायक और सपा सरकार में उर्जा राज्य मंत्री रह चुके शैलेन्द्र यादव ललई
लगातार चैथी बार विधान सभा के सदस्य हैं . मजबूत जमीनी पकड़, क्षेत्र का जाति समीकरण और गांव गांव में कार्यकर्ताओं की जबरदस्त टीम की बदौलत उन्हें मत देना विपक्षियों के लिए नामुककिन सा रहा है।सन 2017 के चुनाव में मोदी लहर के बावजूद उन्हें 67818 वोट हासिल हुए और ।विपक्षी दलों की जबरदस्त घेरा बन्दी सत्ता विरोधी लहर में तकरीबन 9 हज़ार से अधिक मतों से विजयी हुए।
2022 के विधान सभा चुनाव में भी समीकरण ललई यादव के पक्ष में दिख रहा है।बावजूद इसके वह कोई कसर छोड़ना नही चाहते।जब दूसरे तमाम दलों के संभावित प्रत्याशी टिकट के लिए लखनऊ-दिल्ली के चक्कर काट रहे हैं तब ललई यादव सीधे मतदाताओं से रूबरू हो रहे हैं।इसके सार्थक नतीजे भी दिख रहे हैं।कल तक नाराज़ कई कार्यकर्ता अब ललई यादव के चुनावी अभियान में जी जान से जुट गए हैं।
शाहगंज विधानसभा क्षेत्र में एक मतदाताओं की कुल संख्या तकरीबन साठे तीन लाख है जिसमेें सबसे अधिक दलित हैं। अुमान के मुताबिक दलित मतदाताओं की संख्या 90 हजार से अधिक है। इन में खासी तादात सोनकर बिरादरी की है जो काफी समय से समाजवादी पार्टी के मतदाता रहे हैं पिछड़े वर्ग में सबसे अधिक सादव मतदाता है इनकी संख्या 65 हजार से अधिक है। मुस्लिम मतदाताओं की भी खासी तादाद है।लगभग 55 हजार से ज्यादा मुस्लिम वोटर सपा के पक्ष में एक तरफा मतदान करते रहे हैं।
इस विधान सभा क्षेत्र में बिन्द समाज की आबादी भी काफी है अनुमान के मुताबिक 50 हजार से ज्यादा बिन्द मतदाता हैं। इनके अलावा तकरीबन 35 हजार ठाकुर और 30 हजार ब्राहम्ण मतदाता भी हैं। ठाकुर और ब्राहम्ण आबादी वाले हर गांव में एक गुट ललई यादव के पक्ष में मतदान करता रहा है।फिलहाल बसपा या भाजपा गठबंधन से जिन संभावित प्रत्याशियों के नाम की चर्चा है उनमें सभी ललई यादव के सियासी कद के आगे बौने हैं।
जनता में एक सन्देश यह भी है कि यदि सूबे में सपा की सरकार बनी तो ललई यादव का कैबिनेट मंत्री बनना तय है।ऊर्जा राजमंत्री रहते हुए उन्होंने जिस तरह क्षेत्र में कई पॉवर हाउस का निर्माण कराया उससे लोगों को यह उम्मीद है कि अगली सरकार में भी ललई यादव क्षेत्र के विकास को नई दिशा देंगे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad