WHO ने कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज पर रोक लगाने की अपील की | जानें क्या है वजह? - Ideal India News

Post Top Ad

WHO ने कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज पर रोक लगाने की अपील की | जानें क्या है वजह?

Share This
#IIN

WHO ने कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज पर रोक लगाने की अपील की | जानें क्या है वजह?


Pramod rai

Covid Vaccine Booster Dose: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सितंबर के अंत तक कोविड-19 टीकों की बूस्टर खुराक पर रोक लगाने की बुधवार को अपील करते हुए गरीब और अमीर देशों के बीच टीकाकरण में विसंगति पर चिंता प्रकट की. डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अधोनम गेब्रेयेसस ने जिनेवा में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अमीर देशों में प्रति 100 लोगों को अब तक टीके की करीब 100 खुराक दी जा चुकी है, जबकि टीके की आपूर्ति के अभाव में कम आय वाले देशों में प्रति 100 व्यक्तियों पर सिर्फ 1.5 खुराक दी जाा सकी हैं. उन्होंने कहा, ‘‘हमें टीकों का बड़ा हिस्सा अधिक आय वाले देशों में जाने देने की नीति को फौरन बदलने की जरूरत है.’’


डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने कहा, “इसी के अनुरूप, डब्ल्यूएचओ बूस्टर खुराक दिए जाने पर कम से कम सितंबर के अंत तक रोक लगाने की अपील कर रहा है ताकि कम से कम 10 प्रतिशत आबादी को टीका लग जाए.” डब्ल्यूएचओ अधिकारियों ने कहा कि विज्ञान में अभी यह बात साबित नहीं हुई है कि टीके की दो खुराक ले चुके लोगों को बूस्टर खुराक देना कोरोनावायरस संक्रमण का प्रसार रोकने में प्रभावी होगा. डब्ल्यूएचओ ने बार-बार अमीर देशों से अपील की है कि वे विकासशील देशों तक टीकों की पहुंच में सुधार के लिये और कदम उठाएं.


वैश्विक स्तर पर कोविड-19 के 40 लाख नए मामले


वैश्विक स्तर पर पिछले सप्ताह कोविड-19 के 40 लाख नए मामले सामने आए. संक्रमण के मामलों में वृद्धि मुख्य तौर पर पश्चिम एशिया और एशिया में संक्रमण के नए मामले से हुई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की ओर से महामारी पर पेश ताजा बुलेटिन से यह जानकारी मिली. संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने बुधवार को बताया कि संक्रमण के मामलों में एक महीने से ज़्यादा समय से वृद्धि हो रही है. हालांकि वैश्विक स्तर पर संक्रमण से मौत आठ फीसदी तक कम हुई है.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad