ओबीसी आरक्षण बिल लोकसभा के बाद आज राज्यसभा से भी पास, राज्यों को मिलेगा OBC List तैयार करने का अधिकार - Ideal India News

Post Top Ad

ओबीसी आरक्षण बिल लोकसभा के बाद आज राज्यसभा से भी पास, राज्यों को मिलेगा OBC List तैयार करने का अधिकार

Share This
#IIN

ओबीसी आरक्षण बिल लोकसभा के बाद आज राज्यसभा से भी पास, राज्यों को मिलेगा OBC List तैयार करने का अधिकार


Dr. A.k Gupta

OBC List: लोकसभा से पारित होने के बाद ओबीसी आरक्षण संशोधन विधेयक आज राज्यसभा से भी पास हो गया. राज्यसभा में मानसून सत्र का ये पहला दिन है जब किसी बिल पर इतनी लम्बी चर्चा हुई हो. इस बिल पर चर्चा के दौरान लगभग सभी दलों ने एक स्वर से बिल का समर्थन किया.  


सभी राज्यों में 50 फीसदी आरक्षण की सीमा पहले ही भर चुकी है- सिंधवी


राज्यसभा में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री विरेंद्र कुमार के प्रस्ताव के साथ ओबीसी बिल पर चर्चा शुरू हुई. इसके तुरंत बाद कांग्रेस सांसद अभिषेक मनु सिंघवी ने बिल का समर्थन करते हुए भी इस बिल को अर्थहीन बताया. अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि ओबीसी बिल के माध्यम से सरकार राज्यों को एक काग़ज़ी दस्तावेज भर थमा रही है. ये अर्थहीन है क्योंकि देश के 80 फीसदी राज्यों में आरक्षण की सीमा पहले ही 50 फीसदी को पार कर चुकी है. अब राज्य ओबीसी की नई सूची बना कर करेगी क्या. ये एक ऐसा बर्तन है जो ख़ाली है. नागालैंड मिज़ोरम में 80 फीसदी, महाराष्ट्र में 65 फीसदी इसी तरह अन्य राज्यों में भी है आरक्षण.   


बीजेपी ने मंडल आयोग लागू करने में क्रेडिट लेने के लिए दी ये दलील


बिहार के बीजेपी सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा मैं समविधान संशोधन विधेयक के समर्थन में खड़ा हुआ हूं. पिछड़ों को सम्मान सिर्फ़ उन सरकारों से मिला जिनमें जनसंघ और बीजेपी शामिल थीं. वीपी सिंह की उस सरकार में जनसंघ के लोग शामिल थे जिसने मंडल आयोग लागू किया. मोदी सरकार ने प्रोफ़ेसर और असिस्टेंट प्रोफ़ेसर के मामले में डिपार्टमेंट की जगह विश्विद्यालय को यूनिट माना. संसद के सेंट्रल हाल में अम्बेडकर का चित्र हमनें लगाया. अम्बेडकर को भारत रत्न उनके मरने के 34 साल बाद हमारे सहयोग से दिया गया. सुशील मोदी ने आरएसएस के दत्ता त्रेय होसबोले के बयान को सदन में कोट किया कि आरक्षण तब तक रहेगा जब तक समाज में उसकी ज़रूरत रहेगी. सुशील मोदी ने कहा कि 2024 में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही बनेंगे क्योंकि सबका साथ सबका विकास वही करेंगे और कोई नहीं करेगा. 


आप सांसद ने बिल के बहाने यूपी सरकार को घेरा 


आप सांसद संजय सिंह ने कहा कि बिल का समर्थन करता हूं. ये वही बीजेपी है जिसके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के राज में पिछड़ों की 18 हज़ार नौकरी खा ली. मंडल पे कितना बड़ा झूठ बोला सदन में इन्होंने. मंडल के समय तो ये कमंडल ले के निकल गए थे. मंदिर में चंदा चोरी करते हैं. यूपी में दलितों का जो हाल योगी सरकार ने कर रखा है उसके चलते यूपी में हाथरस कांड होता है, बलिया में जय प्रकाश पाल की एसडीएम के सामने हत्या कर दी गई. इनके राज में दलितों को मूँछ रखने पर मार दिया जाता है.  आरक्षण की 50 फीसदी की सीमा बढ़ाने का भी बिल लाइए वरना ये ओबीसी बिल सिर्फ़ दिखावा है. मैंने चंदा चोरी का मामला उठाया तो मुझ पर 15 मुक़दमे कर दिए गए.  मुझे गैंगेस्टर बनाना चाहते हैं.  किसानों की आवाज़ नहीं सुनी जा रही.   


वामपंथी पार्टियों ने भी किया बिल का समर्थन


केरल से सीपीआई सांसद बिनॉय विश्वम ने कहा कि मैं इस बिल का समर्थन करता हूं. ये अत्यावश्यक बिल है.  वीपी सिंह की सरकार को गिराने का काम इसी बीजेपी के लोगों ने किया था और आज यहां सुशील मोदी वीपी सिंह के हवाले से मंडल में क्रेडिट लेना चाहते हैं. बीजेपी को सिर्फ़ झूठ बोलना आता है. ये तो मंडल के ख़िलाफ़ कमंडल ले कर आ गए थे. इन्होंने हिन्दू समाज को बांटने का काम किया है. और अब जनता को धोखा दे रहे हैं.  मोदी सरकार दलितों की किलिंग कर रही है. मैं बिल का सपोर्ट और सरकार की राजनीति का विरोध करता हूं.


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad