स्वतंत्रता दिवस से पहले दिल्ली में बेहद कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, हवा से लेकर जमीन तक पुलिस की निगरानी - Ideal India News

Post Top Ad

स्वतंत्रता दिवस से पहले दिल्ली में बेहद कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, हवा से लेकर जमीन तक पुलिस की निगरानी

Share This
#IIN

स्वतंत्रता दिवस से पहले दिल्ली में बेहद कड़ी सुरक्षा व्यवस्था, हवा से लेकर जमीन तक पुलिस की निगरानी


DR. A.K Gupta



Independence Day Celebration: स्वतंत्रता दिवस समारोह की सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस मुस्तैदी से तैनात है और हर चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है. दरअसल, 15 अगस्त को लेकर दिल्ली पुलिस को अलग-अलग तरह के इनपुट मिले हैं. पुलिस हवा से लेकर जमीन तक हर खतरे से निपटने को तैयार है. आज दोपहर से ही लाल किला के आसपास की मार्केट और दफ्तरों को सुरक्षा के लिहाज से सील कर दिया गया है. वहीं व्यस्तम बाजारों की सुरक्षा के भी व्यापक इंतजाम किए गए हैं.   


लाल किले पर आयोजित होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह को लेकर लाल किले पर न केवल भारी संख्या में पुलिस, अर्ध सैनिक बल व सेना के जवान तैनात किए गए हैं. साथ ही लाल किला के इर्द-गिर्द स्थित इमारतों पर पुलिस के स्नाइपर्स को तैनात किया जाएगा, जिसके लिए मचान बनाई गईं हैं. निगरानी के लिए लगभग 300 की संख्या में सीसीटीवी कैमरे व 9 एन्टी ड्रोन राडार भी तैनात किए गए हैं. लाल किला की सुरक्षा में लगभग 5 हजार जवान तैनात रहेंगे. साथ ही एन्टी एयरक्राफ्ट गन भी लगायीं गयीं हैं. 


आतंकी हमले के इनपुट को ध्यान में रखते हुए इस बार भी स्वतंत्रता दिवस पर लाल किला व आसपास के इलाके की सुरक्षा के अभूतपूर्व बंदोबस्त किए गए हैं. हवाई हमले खासतौर से ड्रोन से हमले को लेकर अलर्ट जारी है. इसके चलते न केवल एंटी एयरक्राफ्ट गन ऊंची इमारतों पर लगाई हैं, बल्कि ड्रोन रडार भी लगाए गए हैं. फेस रिकॉग्निशन वाले सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. लाल किला के मुख्य गेट पर कंटेनर की ऊंची इमारत खड़ी कर दी गयी है. लाल किला के पास कार्यक्रम के दौरान पांच हजार से ज्यादा जवान तैनात रहेंगे. 


लाल किले की सुरक्षा में दिल्ली पुलिस के अलावा अर्ध सैनिक बल जैसे बीएसएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, सीआरपीएफ आदि के साथ साथ एनएसजी कमांडो और एसपीजी के जवान भी तैनात रहेंगे. राष्ट्रीय समारोह के दौरान दिल्ली में 40 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे. लाल किला के आसपास मचान भी बनाई गई हैं, जहां पर स्नाइपर्स तैनात रहेंगे. ऊंची इमारतों पर भी स्नाइपर्स को तैनात किया जाएगा. 


इस बार चांदनी चौक मेन रोड पर स्थित इमारतों में रहने वाले लोगों को समारोह के दौरान छतों पर आने की मनाही रहेगी. किसी भी तरह के एयर बैलून, ड्रोन आदि को उड़ाने की मनाही है. सुबह जब तक राष्ट्रीय समारोह चलेगा तब तक पतंग उड़ाने की भी मनाई रहेगी. आसपास के अन्य राज्यो के साथ भी बैठक की गई है और उनके साथ भी सुरक्षा इनपुट साझा किए गए हैं. इनपुट को ध्यान में रखते हुए ही लाल किला के सामने कंटेनर लगाए गए हैं.  


अलग अलग इनपुट को ध्यान में रखते हुए लगाई गई है सुरक्षा


पुलिस सूत्रों का कहना है कि आतंकी हमलों को लेकर अलग अलग इनपुट मिले हैं. इसके साथ ही ये इनपुट भी मिले हैं कि देश विरोधी ताकतें स्वतंत्रता दिवस के समारोह में व्यवधान पैदा करना चाहती हैं. किसानों को उकसाने में लिए विदेशों से कॉल की जा रही हैं. लाल किले पर होने वाले समारोह को किसी भी तरीके से रोकने के लिए कहा जा रहा है. ऐसा भी इनपुट मिला है कि अलगाववादी पुलिस की वर्दी पहन कर समारोह स्थल पर पहुंच कर देश विरोधी झंडे फहराने का प्रयास कर सकते हैं. सौहार्द बिगाड़ने के लिए धार्मिक स्थलों को भी निशाना बनाया जा सकता है. यही वजह है कि हर कोण को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा व्यवस्था की गई है. 


बाजारों को किया गया सील


15 अगस्त को आयोजित होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह को लेकर दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए हैं. सुरक्षा की तैयारियां भी लगभग पूरी हो चुकी हैं. आज दोपहर 12 बजे के बाद से ही चांदनी चौक के आसपास की मार्केट को सील करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी. दुकानों के बाहर लगे तालों पर सिक्योरिटी चेक किया गया और फिर पुलिस की सील लगा दी गयी. 


यही प्रक्रिया 12 अगस्त को भी अपनायी गई थी, क्योंकि 13 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस समारोह की रिहर्सल होती है और उस समय भी दुकानें सील होती हैं. आज भी ठीक इसी तरीके से 12 बजे के बाद दुकानों को सील करने की प्रक्रिया शुरू की गयी. ये सभी दुकान सोमवार सुबह 10:00 बजे के बाद खुलेंगी. लाल किले के आसपास की जो इमारतें हैं वहां पर दिल्ली पुलिस के कमांडो तैनात किए जाएंगे.  

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad