साइबर ठग छोटा चारा डाल कर बड़ा हाथ मारने की फिराक में - Ideal India News

Post Top Ad

साइबर ठग छोटा चारा डाल कर बड़ा हाथ मारने की फिराक में

Share This
#IIN

कमल कुमार कश्यप
 रांची झारखंड 

 साइबर ठग छोटा  चारा डाल कर बड़ा हाथ मारने की फिराक में 


साइबर ठग हमेशा नए नए तरीके अपनाकर लोगों को अपने जाल में फसाते रहते हैं| लोगों को जब तक 1 तरीके की जानकारी होती है तब तक साइबर् ठग नई चाल चल देते हैं| अब उनकी नई चाल है छोटा चारा डाल कर बड़ा हाथ मारने की |आईपीएस जया राय के पिता डॉक्टर एन आर् ने थाने में शिकायत दर्ज कराई कि उनके एसबीआई अकाउंट से साइबर अपराधियों ने पाच लाख 90 हजार रुपये उड़ा लिए हैं| दरअसल वे दो मोबाइल फोन यूज करते हैं, एक मोबाइल में बीएसएनएल का सिम है इसकी आउटगोइंग करीब 1सप्ताह से बंद थी |कई दिनों से उनके मोबाइल पर मैसेज आ रहा था जिसमें कहा जा रहा था कि रिचार्ज कराना हो तो इस नंबर पर फोन करें |राय ने उस नंबर पर फोन किया फोन कनेक्ट नहीं हुआ, कुछ देर बाद उस नंबर से फोन आया ₹10 का रिचार्ज करने को कहा गया| उन्होंने ₹10 रिचार्ज कर दिया ,लेकिन मोबाइल चालू नहीं हुआ उधर से कहा गया कि ट्रांजैक्शन सफल नहीं हुआ है| इसके बाद उस नंबर को अपने मोबाइल में डायल करने को कहा चिकित्सक ने वैसा ही किया| इसी क्रम में 7 बार  में ₹5 ,90 007 अपराधियों ने उनके खाते से उड़ा लिया| इस प्रक्रिया में विलंब होने पर चिकित्सक को शंका हुई इसके बाद तत्काल उन्होंने बैंक में फोन कर अपना खाता ब्लॉक कर वायाअगर थोड़ा भी विलंब होता तो और रुपए अपराधी निकाल लेते| 
जांच में जुटी पुलिस जिस नंबर से कॉल किया गया था, पुलिस उसका कॉल डिटेल निकाल रही है| हालाकी घटना के बाद से वह मोबाइल लगातार बंद बता रहा है| इस मोबाइल का अंतिम लोकेशन देवघर के मार्गोमुंडा बता रहा है| बताया जाता है कि साइबर अपराधियों ने सभी पैसे एटीएम में भेज दिया और उसे विभिन्न कंपनियों से खरीदारी कर ली पुलिस गेटवे के माध्यम से खाताधारक नंबर व उसका पता भी निकाल रही है |
ज्ञात हो 2 दिन पूर्व सदर अस्पताल के चिकित्सक डॉ विजय कुमार को भी एक कॉल आया था |कॉल करने वाले ने अपना नाम अमित बताया  था ₹300 की सहायता मांगी| डॉ रणविजय ने बताया कि वे किसी अमित नामक व्यक्ति को नहीं जानते हैं| संभवत साइबर अपराधी ₹300 के बहाने उनका डाटा चुरा लेते और उसका दुरुपयोग करते|

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad