सरकारी खजाने की बर्बादी,अपात्रों के नाम सूची में शामिल,लाभार्थियों को नहीं मिल रहा है लाभ । - Ideal India News

Post Top Ad

सरकारी खजाने की बर्बादी,अपात्रों के नाम सूची में शामिल,लाभार्थियों को नहीं मिल रहा है लाभ ।

Share This
#IIN

*सरकारी खजाने की बर्बादी,अपात्रों के नाम सूची में शामिल,लाभार्थियों को नहीं मिल रहा है लाभ ।* 

*प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने में तकनीकी गड़बड़ी का मामला आया सामने* 

*सभासदो ने उपजिलाधीकारी से किया शिकायत*

बजरंग बली साव खुटहन



 - शाहगंज जौनपुर  प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने में तकनीकी गड़बड़ी का मामला सामने आया है । इस योजना के तहत कई अपात्रों के नाम भी सूची में शामिल हो गए हैं। सत्यापन के दौरान आशा, आंगनबाड़ी कार्यकत्री पात्रों की जानकारी जुटाने और उन्हें योजना का लाभ दिलाने के लिए प्रेरित करने पहुंच रही हैं लेकिन  सूची में शामिल लोगों के नाम और पते नहीं मिल रहे,कुछ ऐसे भी लोग हैं जिनके अलिसान बिल्डिंग व महल लहर रहें हैं ।
गांव जाते ही पता चलता है कि संबंधित नाम का कोई व्यक्ति गांव में रहता ही नहीं है। इसके अलावा नाम, पते और जाति में भी तकनीकी त्रुटि आ रही हैं। ऐसे लोगों के सामने योजना का लाभ लेने में मुश्किलें पैदा हो गई हैं।वहीं शाहगंज नगर पालिका के क्षेत्र में अपात्रों का नाम प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान गोल्डन कार्ड की सूची में आनें पर सभासदो ने उपजिलाधीकारी को एक पत्र देकर पूरे मामले की जांच कराकर पात्रों को सूची में सामिल करनें का को कहा ।
 जौनपुर जनपद के शाहगंज नगर में आयुष्मान गोल्डन कार्ड योजना के लिए जो सूची बनी है उसका सत्यापन कराया जा रहा है और लोगों को गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए कैंपों में लाया जा रहा है। एक विशेष अभियान चल भी रहा है जिसमें पात्रता का सत्यापन हो रहा है। इस सत्यापन के दौरान अब तक लगभग 850 से अधिक ऐसे नाम सामने आ चुके हैं जिनमें नाम, पता, जाति, उम्र आदि की त्रुटियां हैं। इसके अलावा कुछ ऐसे भी नाम सूची में शामिल हैं जिनकी लाखों करोडों की सम्पत्ति व अलिसान बिल्डिंग व महल लहर रहें हैं ।
जिनका सत्यापन नहीं हो रहा। आशाएं गांव जा रही हैं लेकिन संबंधित नाम के लोग वहां मिल नहीं रहे हैं। कुछ ऐसी भी शिकायतें हैं कि हमनाम ने कार्ड बनवा लिया है और असली पात्र वंचित है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad