किसी छात्र ने कहा मैं डीएम बनूगां तो किसी ने कहा मैं टीचर, - Ideal India News

Post Top Ad

किसी छात्र ने कहा मैं डीएम बनूगां तो किसी ने कहा मैं टीचर,

Share This
#IIN

किसी छात्र ने कहा मैं डीएम बनूगां तो किसी ने कहा मैं टीचर,

Vijay Agrawal



 *जौनपुर।* कोरोना के कहर के चलते नन्हे मुन्ने बच्चो के स्कूलों में अभी ताला लगा हुआ है ऐसे में प्राथमिक स्कूलों के शिक्षक मोहल्ला पाठशाला लगाकर तालिम दे रहे है। आज मुफ्तीगंज के खण्ड शिक्षाधिकारी ऐसे ही एक पाठशाला का औचक निरीक्षण किया। इस दरम्यान उन्होने छात्र-छात्राओं से बात किया तो छात्रों का जवाब सुनकर वे आश्चर्य चकित रह गये किसी छात्र ने शिक्षक बनने की मंशा जाहिर की तो किसी ने डीएम बनकर देश की सेवा करने की बात कही। 
मुफ्तीगंज खंड शिक्षा अधिकारी संजय यादव ने आज कंपोजिट विद्यालय तारा(उमरी) के अंतर्गत चल रहे मोहल्ला का औचक निरीक्षण किया और ग्रामीणों से संवाद भी स्थापित किया। 
 खंड शिक्षा अधिकारी संजय यादव द्वारा बच्चों से बीस तक पहाड़ा पूछे जाने पर कई बच्चों ने बाईस, व पच्चीस तक का पहाड़ा सुनाया साथ ही पांच फलों के नाम अंग्रेजी में पूछने पर कई बच्चों ने दस-दस फलों के नाम अंग्रेजी में बताए। खंड शिक्षा अधिकारी ने बच्चों को शाबासी देते बच्चों से पूछा कि आप बड़े होकर क्या बनना चाहते हैं तो इस पर कक्षा सात की छात्रा रानी और रीत ने जहाँ बड़े होकर अध्यापिका बनने की बात कही तो वहीं कक्षा आठ के छात्र अंकित मौर्य ने बड़े होकर डीएम बनने की बात कही,
 जिसपर खंड शिक्षा अधिकारी ने बच्चे को शाबासी देते हुए कहा कि चाहे आपके बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय हों चाहें हम हों या आपके प्रधानाध्यापक, हम सभी लोग परिषदीय विद्यालयों में ही पढ़ें हैं। इसलिए आप लोग भी एक दिन बड़े होकर अधिकारी अवश्य बनेंगे। जबतक विद्यालय में कक्षा शुरू नहीं होता तबतक आप प्रतिदिन मोहल्ला क्लास में नियमित आएं और खूब मन लगाकर पढ़िए अपने सपनों को पूरा करिए। खंड शिक्षा अधिकारी संजय यादव ने ग्रामीणों/अभिभावकों से भी संपर्क कर उनसे अपने बच्चों को परिषदीय विद्यालयों नाम लिखवाने के लिए प्रेरित करते हुए, कहा कि आज परिषदीय विद्यालयों की चाहे भौतिक परिवेश हो या गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए योग्य शिक्षकों की उपलब्धता हो इस पर कान्वेंट स्कूल दूर-दूर परिषदीय विद्यालयों के समकक्ष नहीं टिकते हैं। साथ ही उन्होंने अभिभावकों से बच्चों को प्रतिदिन मोहल्ला क्लास में भेजने के लिए भी बोल। कंपोजिट विद्यालय तारा उमरी की साफ-सफाई खूबसूरत भौतिक परिवेश तथा गुणवत्ता पूर्ण शैक्षणिक कार्य के लिए प्रधानाध्यापक राजेश की प्रशंसा किया साथ में विद्यालय में बन रहे नवीन पुस्कालय कक्ष के लिए अपनी तरफ से कई सुझाव भी दिए।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad