रक्षाबंधन पर निशुल्क बस सेवा देने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद : - Ideal India News

Post Top Ad

रक्षाबंधन पर निशुल्क बस सेवा देने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद :

Share This
#IIN


अखिलेश मिश्र" बागी"-मिर्जापुर




रक्षाबंधन पर निशुल्क बस सेवा देने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद :-
 राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के मिर्जापुर शाखा के जिलाध्यक्ष नारायण जी दु बे ने रक्षाबंधन पर महिलाओं के लिए निशुल्क बस सेवा का स्वागत किया और कहा कि
मुख्यमंत्री  कर्मचारियों की मांगों के प्रति संवेदनशील लेकिन प्रशासनिक अधिकारी सहयोग नही कर रहे है , 10 जुलाई 2021 को राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने कर्मचारियों की मांगों पर सकारात्मक रवैया अपनाने के संकेत दिए थे ।उसी क्रम में वेतन विसंगतियों पर निर्णय के लिए मुख्य सचिव समिति का गठन हो गया है। कर्मचारियों की समस्याओं के निस्तारण के लिए मुख्य सचिव ने समस्त अपर मुख्य सचिव ,प्रमुख सचिव ,सचिव, विभागाध्यक्ष ,मंडलायुक्त एवं  जनपद अधिकारियों को संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ प्रति माह बैठक कर्मचारियों की समस्याओं के निस्तारण के निर्देश दिए हैं। कार्मिक विभाग सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग को पत्र लिखकर आउटसोर्स कर्मचारियों की नियमावली बनाने एवं संविदा कर्मचारियों के वेतन बढ़ाने के बारे में भी कार्यवाही करने को कहा है ।खाद्य रसद विभाग ,स्वास्थ विभाग में संगठनों के पदाधिकारियों के स्थानांतरण पर भी  कार्यवाही करने के निर्देश भी कार्मिक विभाग द्वारा प्रमुख सचिव खाद्य रसद एवम प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य को भेजा जा चुका है।
 विभागीय स्तर पर मुख्यमंत्री जी एवं मुख्य सचिव के निर्देशों का अनुपालन नहीं हो रहा है जिसके कारण कर्मचारियों में असंतोष बढ़ रहा है ।
उन्होंने प्रमुख सचिव खाद्य रसद से विभाग में  वर्षों से निलंबित 12 कर्मचारियों का निलंबन वापस लेने तथा आगरा मेरठ मंडल के पदाधिकारियों का स्थानांतरण निरस्त करने की मांग किया है। स्वास्थ विभाग के महानिदेशक एवं निदेशक प्रशासन को भी पत्र लिखकर संयुक्त परिषद ने राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद जनपद शाखा लखीमपुर के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह एवं जनपद शाखा जौनपुर के मंत्री मनोज कुमार सिंह का स्थानांतरण निरस्त करने की मांग किया है। स्थानांतरण निरस्त करने के संबंध में कार्मिक विभाग द्वारा विभागीय अपर मुख्य सचिव को पहले ही पत्र भेजा जा चुका है ।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad