हुसैन ने कर्बला के सफर में दिया अमन संदेश - Ideal India News

Post Top Ad

हुसैन ने कर्बला के सफर में दिया अमन संदेश

Share This
#IIN

हुसैन ने कर्बला के सफर में दिया अमन संदेश

Manoj Pandey 



सरायमीर। चौथी मुहर्रम को शहीदाने करबला की याद में सरायमीर के इमामबाड़ा बारगाहे हुसैनी में मजलिस का आयोजन किया गया। इस मौके पर अजादारों ने नौहा ख्वानी और मातम किया।
मजलिस में मौलाना वसी मोहम्मद ने कहा कि मदीना से कर्बला तक के सफर में हजरत इमाम हुसैन ने अमन का संदेश दिया। उन्होंने बताया कि जंग में पहल नहीं करनी चाहिए। उसे टालने की कोशिश करनी चाहिए। उअगर पवित्र धार्मिक स्थलों में फसाद का अंदेशा हो तो उस जगह को छोड़ देना चाहिए। लेकिन उन्होंने कभी यह नहीं कहा कि हक व सच्चाई के रास्ते से हट जाना चाहिए बल्कि यह संदेश दिया है कि भले ही सर कट जाए मगर जालिम का समर्थन नहीं करना चाहिए। इमाम हुसैन का कर्बला के मैदान में यही पैगाम है कि अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाने में जितनी देर करोगे उतना ज्यादा बलिदान देना पड़ेगा। मौलाना ने छह माह के शहीद जनाब अली असगर की शहादत का बयान किया तो आंखों से आंसू छलक पड़े। फरहान अब्बास, तौहीद हुसैन ने नौहाख्वानी की।

मजलिसों में अंजुमनों ने पेश किया नौहा मातम
मेजवां। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad