राज कॉलेज में टीजीटी की परीक्षा के दौरान महिला कैंडिडेट के पास से एक हेयर क्लिप बरामद - Ideal India News

Post Top Ad

राज कॉलेज में टीजीटी की परीक्षा के दौरान महिला कैंडिडेट के पास से एक हेयर क्लिप बरामद

Share This
#IIN

*राज कॉलेज में टीजीटी की परीक्षा के दौरान महिला कैंडिडेट के पास से एक हेयर क्लिप बरामद,एग्जाम के आखिरी घंटे में खुली पोल,

Vijay Agarwal  



*जौनपुर:* उत्तर प्रदेश के जौनपुर में टीजीटी एग्जाम के दौरान चीटिंग का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां के राज कॉलेज में टीजीटी की परीक्षा के दौरान महिला कैंडिडेट के पास से एक हेयर क्लिप बरामद की गई, जिसमें एक डिवाइस लगी थी. इस उपकरण के सहारे वह नकल कर रही थी. क्लास एग्जामिनर ने कैंडिडेट की तलाशी के लिए महिला पुलिसर्मियों को बुलाया, जिसके बाद यह डिवाइस बरामद हुई.

फिलहाल, पुलिस ने महिला को हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ कर रही है. पुलिस द्वारा हेयर क्लिप में लगा हुआ डिवाइस और एक नैनो सिम भी जब्त कर लिया है. इस संबंध में जानकारी देते हुए राज कॉलेज के प्राचार्य अखिलेश शुक्ला ने बताया कि परीक्षा के आखिरी घंटे में महिला अभ्यर्थी सोनल मिश्रा को कक्ष निरीक्षक ने शक के आधार पर पकड़ लिया. 

 
हेयर क्लिप में थी भूरे रंग की डिवाइस
कक्ष निरीक्षक को लगातार एक अलग आवाज आ रही थी. इस शक के आधार पर उसने महिला पुलिसकर्मियों के सहारे तलाशी दिलवाई तो सोनल के पास से भूरे रंग की एक डिवाइस मिली, जिससे वह चीटिंग कर रही थी. फिलहाल वह कैंडिडेट औऱ डिवाइस दोनों ही पुलिस के पास हैं और उसकी मदद करने वाले साथियों का पता लगाया जा रहा है. आरोपी महिला कैंडिडेट के जवाबों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगा

लगातार दे रही थी यह सफाई
जब कैंडिडेट की पोल खुली तो उसे प्राचार्य के पास लेकर आया गया. उस समय जब उससे पूछा गया कि डिवाइस पर तुम्हे जवाब बताने वाला कौन था तो सोनल ने बोला कि वह उसे नहीं जानती है. ऐसे में जब उससे यह पूछा गया कि कितने सवालों का जवाब तुमने उससे पूछा, तो सोनल का कहना था कि एक भी नहीं. लेकिन कक्ष निरीक्षक ने बताया था कि उन्हें लगातार जवाब देने की आवाजें आ रही थीं. इससे पता चलता है कि सोनम बचने के लिए और उसकी मदद करने वाले को बचाने के लिए झूठ बोल रही थी. सोनल लगातार कह रही थी कि दूसरी तरफ से आवाजें तो आ रही थीं, लेकिन उसके पास उन्हें सुनने का समय नहीं था. क्योंकि वह अपना पेपर अपने हिसाब से कर रही थी. 

फिलहाल, सच क्या है और झूठ क्या इसका पता लगाने के लिए पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है. जल्द ही सोनल की मदद करने वाले का भी पता लग जाएगा.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad