जिला कल्याण पदाधिकारी ले रहे थे घूस, 20 हजार रूपए नकद के साथ ACB ने किया गिरफ्तार, घर से 2.83 लाख कैश बरामद - Ideal India News

Post Top Ad

जिला कल्याण पदाधिकारी ले रहे थे घूस, 20 हजार रूपए नकद के साथ ACB ने किया गिरफ्तार, घर से 2.83 लाख कैश बरामद

Share This
#IIN

श्रवण सेठी
 मेदिनीनगर (झारखंड) 




जिला कल्याण पदाधिकारी ले रहे थे घूस, 20 हजार रूपए नकद के साथ ACB ने किया गिरफ्तार, घर से 2.83 लाख कैश बरामद

एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB ) की टीम ने पलामू में शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई की है। जिला कल्याण पदाधिकारी सुभाष कुमार और क्लर्क मनोज कुमार को 20 हजार रुपये की घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया हैं। दोनों की गिरफ्तारी समाहरणालय परिसर स्थित विभाग के कार्यालय से हुई है।

गिरफ्तारी के बाद जिला कल्याण पदाधिकारी के बाईपास रोड स्थित घर की भी तलाशी ली गई। इसमें 2.83 लाख रुपए नगद बरामद हुए हैं। इस राशि को भी जब्त कर लिया गया है। छतरपुर थानाक्षेत्र के डुन्डूर निवासी उमाशंकर बैगा ने धुमकुड़िया भवन निर्माण के लिए घूस मांगे जाने की शिकायत ACB से की थी। उन्हीं की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है।

12.5 लाख के भवन निर्माण के लिए 40 हजार की डिमांड

दरअसल कल्याण विभाग की तरफ से आदिवासी कला संस्कृति के विकास के लिए धुमकुड़िया भवन का निर्माण कराया जाना है। डुन्डूर में धुमकुड़िया भवन बनवाने के लिए उमाशंकर प्रयासरत थे। साढ़े बारह लाख की लागत से बनने वाले इस भवन के लिए उमाशंकर ने कल्याण पदाधिकारी सुभाष से सम्पर्क किया तो उन्होंने क्लर्क मनोज से बात करने के लिए कहा। क्लर्क ने 40 हजार रुपये रिश्वत की डिमांड की।

20 हजार में तय हुआ था सौदा
उमाशंकर ने 40 हजार देने में असमर्थता जाहिर की तो मामला 20 हजार में तय हुआ। इसके बाद उमाशंकर ने ACB को सूचना दी। ACB ने अपने सत्यापन में मामला सही पाया। जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी के लिए जाल बिछाया गया।

प्लानिंग के साथ ACB ने की गिरफ्तारी
रणनीति के तहत कागज में मोड़कर उमाशंकर ने कल्याण पदाधिकारी को घूस की रकम दी । इसके बाद ACB की टीम ने उन्हें धर दबोचा और इस कार्य मे संलिप्त होने के आरोप में क्लर्क मनोज को भी गिरफ्तार कर लिया।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad