वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देंगे योजनाओं की सौगात, जानिए क्‍या होगा खास - Ideal India News

Post Top Ad

वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देंगे योजनाओं की सौगात, जानिए क्‍या होगा खास

Share This
#IIN 

वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देंगे योजनाओं की सौगात, जानिए क्‍या होगा खास

डा यू एस भगत वाराणसी


वाराणसी । वाराणसी के सांसद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भी काशी आए हैं कोई न कोई सौगात देकर  ही गए हैं। बदलता बनारस के तौर पर काशी को दिव्‍य और भव्‍य बनाने के लिए योजनाओं की कोई कमी नहीं। पीएम की प्राथमिकता वाली योजनाओं को समय से पूरा करने के लिए मुख्‍यमंत्री की निगाह भी बराबर योजनाओं पर बनी रही है। कई पूरी हो चुकी योजनाओं को इस बार पीएम जनता को लोकार्पित करेंगे।
रुद्राक्ष कन्वेंंशन सेंटर : जापान सरकार के 186 करोड़ की आर्थिक सहायता से अंतरराष्ट्रीय कन्वेंशन सेंटर बना है। इसमें 12 सौ लोगों के बैठने की सुविधा है। आधुनिक आडियो व वीडियो सिस्टम के अलावा बेहतरीन लाइटिंग हुई है। जापान व भारतीय शैली से निर्माण हुआ है। अंडरग्राउंड पार्किंग सुविधा के अलावा जापानी शैली में हरियाली की गई है।
मछोदरी स्मार्ट स्कूल : मछोदरी स्मार्ट सीनियर सेकेंडरी स्कूल व स्किल डेवलमेंट सेंटर की लागत 14.21 करोड़ रुपये है। यह पूर्वांचल का पहला स्मार्ट स्कूल है। स्मार्ट सिटी योजना से कार्य हुआ है। 36 क्लास रूम बने हैं। चार कंप्यूटर कक्ष, चार लैब, आडिटोरियम, विज्ञान कक्ष, खेलकूद कक्ष, लाइब्रेरी, संगीत कक्ष, कला कक्ष, लिफ्ट, सीसी टीवी कैमरा, हर फ्लोर पर दिव्यांग, बालक, बालिका व टीचर के लिए अलग-अलग शौचालय, एसी प्रधानाचार्य व अध्यापक कक्ष, रैन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगा है।

गोदौलिया पर मल्टीलेवल पार्किंग : पूर्वांचल का पहला मल्टीलेवल पार्किंग स्मार्ट सिटी योजना के तहत गोदौलिया पर बनाया गया है। 19.55 करोड़ से इसका ढांचा स्टील से बना है। साढ़े तीन सौ दो पहिया वाहनों को खड़ा करने की व्यवस्था है। तीन लिफ्ट लगे हैंं। भूतल पर दुकानें तो ऊपर के चार तल पर वाहन खड़े होंगे।
आडियो-विजुअल बिग एलइडी स्क्रीन : स्मार्ट सिटी की यह 8.87 करोड़ की योजना है। इसमें बड़े-बड़े एलइडी स्क्रीन छह स्थानों गोदौलिया पार्किंग, राजघाट, असि घाट, आरपी घाट, कैंट रेलवे स्टेशन व दशाश्वमेध घाट पर लगाए गए हैं। इस पर श्रीकाशी विश्वनाथ दरबार का प्रसारण होने के साथ ही गंगा घाट व धार्मिक अनुष्ठानों का प्रसारण किया जाएगा।

बीएचयू में 100 बेड एमसीएच विंग : बीएचयू में 45.50 करोड़ की लागत से बना है एमसीएच विंग। 100 बेड का यह मदर एंड चाइल्ड हेल्थ विंग। 12 बेड का आइसीयू व एचडीयू मां के लिए। 30 बेड का आइसीयू व एचडीयू शिशु के लिए। पूर्वांचल समेत पड़ोसी राज्यों को भी इस एमसीएच विंग का लाभ मिलेगा।
आशापुर आरओबी : वाराणसी-गाजीपुर मार्ग थ्री लेन उपरिगामी सेतु का निर्माण 50.17 करोड़ रुपये में हुआ है। इससे वाराणसी-गाजीपुर फोरलेन पर लगने वाले रोजाना जाम से मुक्ति मिलेगी। रेलवे क्रासिंग बंद होने से लोगों को परेशानी होती थी। इस क्रासिंग से गाजीपुर ही नहीं, मऊ, बलिया, गोरखपुर आदि जिलों तक जाने वालों को सुविधा होगी।

घाटों पर लगे स्मार्ट साइनेज : स्मार्ट सिटी योजना के तहत गंगा के सभी 84 घाटों पर स्मार्ट साइनेज लगाया गया है। इसका स्थापन कार्य 5.08 करोड़ में हुआ है। इस साइनेज पर घाटों के इतिहास, पौराणिक महत्व के साथ ही प्रमुख स्नान-ध्यान के बाबत जानकारी अंकित की गई है। इसके अलावा सीढिय़ों पर भी घाट संबंधित पूरी जानकारी अंकित की गई है। इस पर उन लोगों का नाम भी अंकित है जिन्होंने पूर्व में घाट निर्माण में महती भूमिका निभाई है।

माड्यूलर ओटी संग महिलाओं को मिलेगी आधुनिक जांच सुविधा : पं. दीनदयाल उपाध्याय राजकीय अस्पताल परिसर में यूपी निर्माण निगम ने 21.88 करोड़ रुपये की लागत वाले 50 बेड के महिला अस्पताल का निर्माण कार्य वर्ष 2017 में शुरू किया था। जून 2021 में यह बनकर तैयार हुआ, जिसमें 17 करोड़ रुपये खर्च हुए। पांच मंजिला भवन प्री-फैब्रिकेटेड तकनीक से तैयार है। इसमें माड्यूलर ओटी, ओपीडी, अत्याधुनिक जांच व चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी। इसका फायदा शहर ही नहीं, आठों ब्लाक की महिलाओं को होगा। इससे जहां उन्हेंं उच्च चिकित्सीय सुविधाएं मिलेंगी, वहीं मातृ-शिशु मृत्युदर में भी कमी लाने में मदद मिलेगी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad