छात्र सैनिक करेंगे पौधों का संरक्षण* सारनाथ महाबोधि इंटर कॉलेज में हुआ पौधों का रोपण - Ideal India News

Post Top Ad

छात्र सैनिक करेंगे पौधों का संरक्षण* सारनाथ महाबोधि इंटर कॉलेज में हुआ पौधों का रोपण

Share This
#IIN

अजय कुमार दूबे सारनाथ वाराणसी

*छात्र सैनिक करेंगे पौधों का संरक्षण*
सारनाथ महाबोधि इंटर कॉलेज में हुआ पौधों का रोपण 





सारनाथ (वाराणसी) " वृक्ष हमारे लिए देव तुल्य  हैं ,वृक्षों की हम पूजा करते हैं, वृक्ष जीवनदाई प्राणवायु देते हैं ,अतः हमें अधिक से अधिक संख्या में वृक्ष लगाने की आवश्यकता है ।कोविड-19 का अभी सेकेंड  वेब बीता है और जिस तरह से लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ा उसको देखते हुए तो वृक्षों को लगाने की आवश्यकता बढ़ जाती है ।यह एक अभियान के रूप में लगाया जाना चाहिए ।कहा गया है कि वृक्ष धरा का आभूषण है , करता दूर प्रदूषण है। बंजर धरती कहे पुकार, वृक्ष लगाकर करो सिंगार ।वृक्ष की महिमा महान, एक वृक्ष सौ पुत्र समान। धरती की हरियाली को बचाए रखने के लिए पौधों  को अधिक  से अधिक  संख्या में लगाने बहुत आवश्यक है ।वृक्ष हमारे लिए हर प्रकार से आवश्यक है वृक्षों से फल , औषधियां , मसाले और लकड़ी मिलती हैं। इस तरह से हमारे जीवन में वृक्षों की बहुत उपयोगिता है वृक्षों की हम पूजा करते हैं, बट सावित्री में बरगद की पूजा होती है । इस तरह से हमारे दैनिक जीवन में वृक्षों  की  अहमियत है । इस कारण हमें वृक्षों को संरक्षित करने ,उन्हें बचाने पर भी ध्यान देना चाहिए और इसे एक अभियान के रूप में लेकर आगे बढ़ने की आवश्यकता है तभी हम इस पूरी धरती को पर्यावरण से बचा सकते हैं। उक्त बातें महाबोधि इंटर कॉलेज में वर्षा काल में पौधारोपण के अवसर पर रविवार को प्रभात कुमार झा, उप सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद ने कही।
 विद्यालय के प्रधानाचार्य प्रवीण कुमार श्रीवास्तव ने इस अवसर पर कहा कि "जो वृक्ष लगाए जा रहे हैं उन वृक्षों को सुरक्षित और संरक्षित करके उनका संवर्धन करने के लिए लगाये गये पौधों को  एनसीसी कैडेट्स को जिम्मेदारी दी जायेगी जिससे वृक्षों का संरक्षण और संवर्धन हो ।" इस अवसर पर विद्यालय के प्रबंधक भंते सुमिथानंद थेरों , डा. अरविन्द कुमार सिंह, ब्रह्मदेव पांडे, चंद्रशेखर मिश्र ,राजेश कुमार, भिक्षु धर्मप्रिय सहित अन्य शिक्षक और कर्मचारी उपस्थित रहें,कार्यक्रम का संचालन श्री शंभू नाथ मौर्य ने किया।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad