मड़ियाहूं और मछलीशहर सीएचसी भी बनी प्रथम संदर्भन इकाई, - Ideal India News

Post Top Ad

मड़ियाहूं और मछलीशहर सीएचसी भी बनी प्रथम संदर्भन इकाई,

Share This
#IIN

मड़ियाहूं और मछलीशहर सीएचसी भी बनी प्रथम संदर्भन इकाई,

शैलेश तिवारी मडियाहूं जौनपुर
 
जच्चा-बच्चा के बेहतर स्वास्थ्य के लिए बढ़ेंगी सुविधाए
जौनपुर, 15 जुलाई 2021



ग्रामीण स्तर पर घर के नजदीक ही स्वास्थ्य सुविधाएं आसानी से मिल सकें , इसी के मद्देनजर शासन ने वर्तमान वित्तीय वर्ष 2021-22 में दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों (सीएचसी) मड़ियाहूं व मछलीशहर को प्रथम संदर्भन इकाई (एफआरयू) घोषित कर दिया है। जिले के बाकी तीन सीएचसी शाहगंज, केराकत और बदलापुर पहले से ही प्रथम संदर्भन इकाई के रूप में संचालित हैं। इस तरह जिले की समस्त तहसीलों पर बनी सीएचसी अब एफ़आरयू हो चुकी हैं । इन दोनों सीएचसी पर एफ़आरयू से संबंधित व्यवस्था करने के लिए उपकरण व साजोसामान उपलब्ध कराने के लिए गैप मूल्यांकन किया जा रहा है, राज्य स्तर से बजट प्राप्त होते ही सभी उपकरण उपलब्ध करा दिये जायंगे |  
  जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) सत्यव्रत त्रिपाठी ने बताया कि प्रथम संदर्भन इकाइयों पर सिजेरियन आपरेशन (प्रसव) से बच्चा पैदा करने, पैदा हुए गंभीर बच्चों के लिए फोटोथेरेपी मशीन और रेडिएंट वार्मर की व्यवस्था रहती है। इससे हाइपोथर्मिया एवं पीलिया से प्रभावित नवजात की जान बचाई जा सकती है।  बदलापुर में साल 2021 के अप्रैल में पांच तथा जून में एक सिजेरियन आपरेशन हुआ है। वहीं साल 2020 से 21 के बीच केराकत सीएचसी पर 20, बदलापुर में 13 और शाहगंज में 24 सिजेरियन आपरेशन हुए हैं जबकि साल 2021-22 में अब तक बदलापुर में 6, शाहगंज में 2 और केराकत में 01 सिजेरियन आपरेशन हो चुके हैं।  
बदलापुर में होगी ब्लड स्टोरेज की व्यवस्था:  
वर्ष 2020-21 में बदलापुर और शाहगंज में ब्लड स्टोरेज यूनिट के लिए एक-एक कमरा बनाया जा चुका है। फ्रीज तथा अन्य उपकरण उपलब्ध करा दिए गए हैं। ड्रग इंस्पेक्टर भी निरीक्षण कर चुके हैं और आख्या भी भेजी जा चुकी है। अब लखनऊ से स्टेट ड्रग आफिसर की ओर से लाइसेंस जारी होने के बाद ब्लड स्टोरेज का काम शुरू हो जाएगा। 
    मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ राकेश कुमार का कहना है कि मछलीशहर एवं मड़ियाहूं के रोगियों के उपचार के लिए व्यवस्था सुदृढ़ कराई जा रही है। इससे जच्चा-बच्चा के बेहतर स्वास्थ्य के लिए सुविधाएं बढ़ेंगी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad