नई शिक्षा नीति के तहत सेविकाओं व सहायिकाओं को किया जाएगा दक्ष। - Ideal India News

Post Top Ad

नई शिक्षा नीति के तहत सेविकाओं व सहायिकाओं को किया जाएगा दक्ष।

Share This
#IIN 

नई शिक्षा नीति के तहत सेविकाओं व सहायिकाओं को किया जाएगा दक्ष। 6 माह का सर्टिफिटेक कोर्स एवं 1 वर्ष का कराया जाएगा डिप्लोमा। अब तक 50 ने किया आवेदन।

दीपक कुमार गुप्ता,बीयूरो चीफ कैमूर।



नुआंव।   नई शिक्षा नीति के तहत आईसीडीएस के माध्यम से सेविकाओं एवं सहायिकाओं को दक्ष किया जाएगा।सीडीपीओ नीरू बाला ने बताया कि प्रारम्भिक बाल अवस्था शिक्षा में 6 माह का सर्टिफिकेट व 1 वर्ष का डिप्लोमा कोर्स कराया जाएगा।अब तक 50 ने आवेदन किया है।इस कोर्स को करने से सेविकाओं व सहायिकाओं के शैक्षणिक स्तर में प्रगति होगी।एवं उनके कार्य करने की शैली में निखार आएगा।इनसेट।आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिका को एक साल की दी जाएगी विशेष प्रशिक्षण।12वीं और इससे उच्च स्तर के कर्मी केवल छह महीने का सर्टिफिकेट कोर्स करेंगे।नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत आंगनबाड़ी सेविका व सहायिकाओं को सर्टिफिकेट व डिप्लोमा कोर्स करने के लिए बिभागीय स्तर पर आवेदन पत्र आमंत्रित किए गए है।विशेषज्ञों के अनुसार बच्चों के दिमाग का 85 प्रतिशत विकास छह साल की उम्र से पहले ही हो जाता है। यही वो समय होता है जिसमें उनके भविष्य की बुनियाद रखी जा सकती है।आंगनबाड़ी स्तर पर बच्चों के पोषण और शारारिक गतिविधियों की लिए अनुकूल माहौल देने  व उनकी ऊर्जा को शिक्षा की ओर मोड़ने के लिए खास तकनीक आधारित शिक्षा की सेविकाओं व सहायिकाओं को आवश्यकता है।
कोर्स को करने के लिए डिजीटल, डिस्टेंस एजुकेशन, डीटीएच चैनल के साथ स्मार्ट फोन के माध्यम से  आंगनबाड़ी कर्मी को  जोड़ा जाएगा। इससे वे अपना वर्तमान काम करते हुए अपनी नई क्षमताए भी विकसित करेंगी।सरकारी स्कूलों के छात्रों के प्राइवेट के मुकाबले पिछड़ने की वजह यही है कि उन्हें अपनी मानसिक बुनियादी मजबूत करने का मौका नहीं मिलता है।अब इस कोर्स के करने से उनको बल मिलेगा।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad