जिलाधिकारी के आवास पर क्षय उपचाराधीनों ने रोपे पौधे उपचाराधीनों को पोषक आहार और हाईजीन किट बांटी गई,बढ़ाया गया उत्साह, - Ideal India News

Post Top Ad

जिलाधिकारी के आवास पर क्षय उपचाराधीनों ने रोपे पौधे उपचाराधीनों को पोषक आहार और हाईजीन किट बांटी गई,बढ़ाया गया उत्साह,

Share This
#IIN 

प्रमोद कुमार राय जौनपुर

जिलाधिकारी के आवास पर क्षय उपचाराधीनों ने रोपे पौधे उपचाराधीनों को पोषक आहार और हाईजीन किट बांटी गई,बढ़ाया गया उत्साह, रेडक्रास सोसायटी और आकांक्षा समिति का संयुक्त आयोजन*

जौनपुर, 04/07/2021। 



भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी तथा आकांक्षा समिति के संयुक्त तत्वावधान में गोद लिए हुए क्षय उपचाराधीनों ने जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के आवास पर अधिक ऑक्सीजन उत्सर्जन करने वाले, फलदार और मेडिसिनल पौधे लगाए। इस दौरान उन्हें पोषक आहार और हाइजीन किट बांंटी गई। 
  कार्यक्रम में 30 से अधिक क्षय उपचाराधीनों को पोषक आहार जिसमें गुड़, चना, शहद, बादाम, देशी घी, छुहारा, बिस्किट, फल, चॉकलेट के साथ हाईजीन किट बांटा गया। हाईजीन किट में 02 मास्क, 05 साबुन और 01 सेनेटाइजर था जिसे आकांक्षा समिति की अध्यक्ष डॉक्टर अंकिता राज और रेडक्रास सोसायटी के सचिव डॉ मनोज वत्स ने उन्हें दिया। क्षय रोगियों के साथ आकांक्षा समिति की अध्यक्ष डॉ अंकिता राज, रेडक्रॉस सोसायटी के डॉ मनोज वत्स, डॉ आरके सिंह, अमित गुप्ता आदि ने पीपल, जामुन, आम, अमरूद आदि के 50 पौधेे लगाए। साथ ही उन्हें अपने घरों में लगाने के लिए मेडिसिनल प्लांट दिए। डॉ अंकिता राज ने कहा कि पौधे हमें आक्सीजन देते हैं जिससे हमारा जीवन सुरक्षित और संरक्षित रहता है। पौधों से जो ऑक्सीजन निकलती है वह जीवन के लिए बहुत उपयोगी है। उन्होंने कहा कि आज आवास पर जो पौधे लगाए गए हैं उनकी देखभाल मैं स्वयं करूंगी। जिन लोगों ने पौधे लगाए हैंं उनको भी इसी तरह बुलाकर दिखाऊंगी कि जो पौधे आप लोगों ने लगाए थे, अब बड़े हो गए हैं। उन्होंने कहा कि क्षय रोगी हमारे समाज के अभिन्न अंग हैं। इनकेे साथ किसी तरह का भेदभाव नहींं करना चाहिए। इन्हें भी समाज की मुख्यधारा से जोड़ना है। इनमें किसी तरह से उपेक्षित होने का भाव नहीं आना चाहिए। इनके आत्मसम्मान को बल देने के लिए ही जिलाधिकारी आवास पर इनके हाथों पौधरोपण का कार्यक्रम किया गया। रेडक्रास के सचिव डॉ मनोज वत्स ने बताया कि क्षय उपचाराधीनों के हाथों से पौधा लगवाने से उनका भी उत्साहवर्धन होगा और वे पर्यावरण के महत्व को समझेंगे। क्षय रोग ऐसी बीमारी है जिसे पूूूरी तरह से ठीक किया जा सकता है। इसे छुपाने की बजाय इलाज कराना चाहिए जिससे स्वस्थ होकर देश व समाज के विकास में अपना योगदान दिया जा सके। इस अवसर पर डॉ. कमर अब्बास ,अमित गुप्ता, संतोष सिंह, रवि सिंह, विद्याधर राय विद्यार्थी, एसएन सिंह, राजीव श्रीवास्तव, संदीप सिन्हा, संजीव सिंह, संतोष ,रस्तोगी, सुशील अग्रहरी, शशिधर उपाध्याय, डॉ प्रेम, करन सिंह, संजय यादव, जीत प्रोजेक्ट के जिला समन्वयक रजनीकांत पांडे, ट्रीटमेंट कोआर्डिनेटर नितिन सिंह, हब एजेंट सौरभ सिंह आदि मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad