ग्रामीण मीडिया कार्यशाला आयोजन सम्पन्न - Ideal India News

Post Top Ad

ग्रामीण मीडिया कार्यशाला आयोजन सम्पन्न

Share This
#IIN 


डा राजेश जैन जौनपुर
ग्रामीण मीडिया कार्यशाला आयोजन सम्पन्न

*जौनपुर।30/06/2021*,



पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार के लखनऊ क्षेत्रीय कार्यालय की ओर से आज जौनपुर में एक ग्रामीण मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्देश्य ग्रामीण अंचल में काम करने वाले पत्रकारों को केंद्र सरकार के कार्यक्रमों की सही तथा नवीनतम जानकारी देना है। कार्यशाला का उद्दघाटन उतर प्रदेश सरकार के आवास और शहरी नियोजन राज्यमंत्री  गिरीश चंद्र यादव ने किया। श्री यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में देश ने हर मोर्चे पर उल्लेखनीय सफलता हासिल की है।उन्होंने कहा कि कोविड-19 के प्रबंधन में जहां एक ओर सरकार चुनौतियों पर खरी उतरी है वहीं दूसरी ओर लाकडाउन और कोरोना कर्फ्यू के बावजूद अर्थव्यवस्था को कमजोर नहीं होने दिया गया। श्री यादव ने कहा कि विकास की गति आज भी वैसी ही है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार दुनिया का सबसे बड़ा मुफ्त टीकाकरण कार्यक्रम चला रही है।जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने पत्रकारों से आग्रह किया कि वे जहां एक ओर योजनाओं के क्रियान्वन में कमियों को उजागर करें वहीं दूसरी ओर सकारात्मकता को प्रत्येक स्थिति में बनाये रखें। जिलाधिकारी ने कहा कि मीडिया कि महत्वपूर्ण भूमिका होती है, नकारात्मक खबरों को छापने से समाज में भ्रम की स्थिति उत्पन्न होती है और विकास की गति प्रभावित होती है। पुलिस अधीक्षक संजय सिंह ने भी मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करते हुये कहा कि समाज की अवधारणा समन्वयवाद पर आधारित होना चाहिये। उन्होंने सभी से एकजुट होकर शांत व्यवस्था बनाये रखने और विकास के मार्ग पर मिलकर चलने की अपील की। पीआईबी के अपर महानिदेशक आर पी सरोज ने ग्रामीण अंचल में काम कर रहे पत्रकारों की भूमिका को काफी महत्वूर्ण बताया और कहा कि कवरेज के समय सकारात्मक रुख बनाये रखना बुहत ज़रुरी है। उन्होंने कहा कि गिलास को आधा खाली कहने के बजाए आधा भरा कहा जाना चाहिये। श्री सरोज ने कहा कि प्रदेश में डेल्टा पल्स का कोई भी मामला अभी तक नहीं पाया गया है। यह संतोष का विषय है।
    एकेडमिक शब्द की शुरुआत करते हुए वरिष्ठ चिकित्सक डा. विनोद कुमार सिंह ने कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर का ज्यादा असर नहीं होगा। उन्होंने कहा कि यह कहना सही नहीं है कि छोटे बच्चों को ही यह लहर प्रभावित करेगी। डेल्टा प्लस वैरिएन्ट की चर्चा करते हुये डा0 सिंह ने इससे बचने के लिये समय से उपाय करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के साथ ही मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाये रखना और बार बार हाथ धोना ज़रुरी होगा। वरिष्ठ चिकित्सक डा. राहुल श्रीवास्तव ने कोविड-19 टीकाकरण पर अपना व्याख्यान दिया। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को कोविड-19 का टीका आवश्यक रुप से समय से लगवा लेना चाहिये। उप मुख्य चिकित्साधिकारी डा. आर के सिंह ने जिले में संचालित टीकाकरण अभियान के बारे में बताया। जिला पंचायतराज अधिकारी ने जहां ग्रामीण अंचल में चलाये जा रहे विभिन्न विकास कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी। वहीं उप कार्यक्रम निदेशक कृषि डा. रमेंश चंद्र यादव ने सरकार द्वारा किसानों को दी जा रही सहूलियतों की चर्चा की। जौनपुर के साइबर सेल के प्रभारी ओम प्रकाश ने साइबर अपराध और उससे बचाव पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया। जाने माने अर्थशास्त्री डा. अरुण कुमार सिंह ने वित्तीय समावेशन पर व्याख्यान प्रस्तुत करते हुए कहा कि सरकार ने छोटे और मझोले उद्दोगों सहित बड़े उद्दोगों को भी आर्थिक मदद प्रदान की है। सरकार की मंशा है कि कृषि को भी उद्दोग का दर्जा दिया जा सके।उन्होंने कहा कि वित्तीय समावेशन के तहत समाज के अंतिम आदमी तक को बैंकिग प्रणाली के साथ जोड़ा गया है। डा.श्रीमती सरोज सिंह ने आजादी का अमृत महोत्सव विषय पर प्रकाश डालते हुये कहा कि प्रधानमंत्री जी का विजन है कि जिन मूल्यों को लेकर आजादी की लड़ाई लड़ी गयी उनसे नई पीढी को परिचित कराया जाये। कार्यक्रम का संचालन पीआई के उपनिदेशक मीडिया डा. श्रीकांत श्रीवास्तव ने किया। डा. श्रीवास्तव ने डिजिटल मीडिया एथिक्स की चर्चा की और कहा कि ओटीटी से जुड़े सामान्य यूजर को भी शिकायते दर्ज कराने का एक मौका एथिक्स कोड में दिया गया है। जिला चिकित्सा विभाग की ओर से कार्यक्रम स्थल पर एक कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना की गयी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad