कल दिनांक 5 जुलाई को स्थानीय रणतूर्य कार्यालय पर इसके संस्थापक संपादक धनुषधारी सिंह - Ideal India News

Post Top Ad

कल दिनांक 5 जुलाई को स्थानीय रणतूर्य कार्यालय पर इसके संस्थापक संपादक धनुषधारी सिंह

Share This
#IIN 

कल दिनांक 5 जुलाई को स्थानीय रणतूर्य कार्यालय पर इसके संस्थापक संपादक धनुषधारी सिंह की 9वीं पुण्यतिथि मनायी गयी.





 उपस्थित लोगों ने धनुषधारी के बताए गये रास्तों पर चलने का प्रण लिया.इस अवसर पर जनपद के चार प्रतिष्ठित चिकित्सकों और समाजसेवी को सम्मानित भी किया गया.
      कार्यक्रम की शुरुआत स्व०धनुषधारी सिंह के चित्र पर पुष्प अर्पित करके किया गया. उनके श्रद्धांजलि सभा में अपने विचार रखते हुए जनपद के वरिष्ठ अधिवक्ता और स्व०धनुषधारी  सिंह के भतीजे शत्रुघ्न सिंह ने कहा कि- चाचा जी अपने धुन के पक्के थे, जो एकबार ठान लिया, उसे करके ही मानते थे.1983 में आजमगढ़ कचहरी कांड में उनकी पत्रकारिता ने न्याय की रक्षा की और तत्कालीन पुलिस अधीक्षक यही पर पुलिस सेवा से बर्खास्त होकर गयें.
जर्नलिस्ट क्लब के अध्यक्ष आशुतोष द्विवेदी ने कहा कि- स्व०धनुषधारी सिंह पत्रकारिता की पूरी एक नर्सरी थे. जिससे अनेक पत्रकार निकले. स्वतंत्रत पत्रकार एसके दत्ता ने कहा कि निर्भीकता और निडरता धनुषधारी सिंह की पहचान थी. जर्नलिस्ट क्लब के संयोजक डा० अरविंद सिंह ने कहा कि रणतूर्य अखबार का प्रकाशन बाबू मुखराम सिंह के संरक्षण में शुरू हुआ, उन्होंने इस पत्र को भाषा शैली, 
शब्दावली और नाम दिया. उन्होंने धनुषधारी सिंह की पत्रकारिता को भी संवारा. संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी पवन सिंह ने स्व०धनुषधारी सिंह की पत्रकारिता के ध्येय को रेखाकिंत करते हुए उनके विजनरी सोच को नमन किया. वसीम अकरम ने संपादक जी की शिक्षाओं से सिखने पर जोर दिया. कवि प्रभु नारायण पांडेय प्रेमी ने अपने संस्मरण सुनाए.
भाजपा क्षेत्रीय महामंत्री सहजानन्द राय ने कहा कि- मैं सौभाग्यशाली हूँ कि स्व०धनुषधारी सिंह और मैं एक ही क्षेत्र से आते हैं, उन्होंने अपनी पत्रकारिता से चौथे स्तम्भ को मजबूत किया.लालगंज के भाजपा अध्यक्ष ने धनुषधारी सिंह की स्मृतियों को नमन किया और उनके पदचिह्नों पर चलने का आह्वान किया.
कार्यक्रम को एसके सतयेन भाजपा नेता अखिलेश सिंह विश्वविद्यालय संघ के अध्यक्ष डा प्रवेश सिंह ने भी संबोधित किया। अतिथियों का आभार रणतूर्य के संपादक महेंद्र सिंह ने व्यक्त किया.साथ ही आने वाले दिनों में समाचार पत्र के विस्तार एवं रुप रेखा पर विस्तार से चर्चा की। वेदांता के पवनधक श्री गोविंद सिंह ने जी बाबू जी के विचारों पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर श्रम विभाग के स्टोन ओं अनिल सिंह मा शारदा पीजी कॉलेज शंभूपुर के डायरेक्टर संजय सिंह गोपीनाथ इंटर कॉलेज के प्रबंधक सुरेंद्र नाथ चौबे शिक्षक ओमप्रकाश सिंह रजिस्टार आनंद कुमार सिंह जनपद के सबसे बड़े किशन एवं सिलाई के अनिल सिंह विजेंदर सिंह अजंता के मालिक अजय कुमार गुप्ता दिनेश गुप्ता विजय सील सिंह सहित सैकड़ों लोगों ने बाबू जी के चित्र पर पुष्प अर्पित किया।
कार्यक्रम की अध्यक्षता शत्रुघ्न सिंह और गोष्ठी का कुशल संचालन शिब्ली नेशनल महाविद्यालय छात्र संघ के महामंत्री कवि संजय पांडेय ने किया.

रणतूर्य कोरोना योद्धा से सम्मानित हुए चिकित्सक
............. 

कल आजमगढ़ के प्रतिष्ठित हिंदी दैनिक रणतूर्य ने कोरोना काल में लोगो का जीवन बचाने वाले चिकित्सकों और सामाजिक सरोकार से जुड़े लोगों को ''रणतूर्य कोरोना योद्धा सम्मान " से सम्मानित किया.सम्मानित होने वालों में प्रमुख रूप से रमा हास्पिटल के प्रबंध निदेशक और जनपद वरिष्ठ यूरोलोजिस्ट डा० अमित सिंह, रेनबो हास्पिटल के प्रमुख तथा जनपद प्रमुख बालरोग विशेषज्ञ तथा पीजीआई चक्रपानपुर के कोविड़ प्रभारी डा० दीपक पांडेय, वरिष्ठ फिजिशियन डा० वीके सिंह, तथा समाजिक कार्यकर्ता और जनपद के वरिष्ठ  कवि,मंच संचालक प्रभु नारायण पांडेय प्रेमी थे. इनको कार्यक्रम संयोजक महेंद्र सिंह ने अंगवस्त्रम् तथा स्मृति चिन्ह प्रदान किया .इस अवसर वरिष्ठ अधिवक्ता शत्रुघन सिंह, जर्नलिस्ट क्लब के अध्यक्ष आशुतोष द्विवेदी, जर्नलिस्ट क्लब के संयोजक अरविंद सिंह, एसके दत्ता, पवन सिंह,वसीम अकरम, अच्युतानंद त्रिपाठी, संजय पांडेय आदि लोग थे.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad