खैराबाद की सुप्रसिद्ध दरगाह हाफिज़िया अस्लामिया में 5 दिवसीय 176 वें उर्स के दूसरे दिन क़ुल शरीफ हुआ सम्पन्न - Ideal India News

Post Top Ad

खैराबाद की सुप्रसिद्ध दरगाह हाफिज़िया अस्लामिया में 5 दिवसीय 176 वें उर्स के दूसरे दिन क़ुल शरीफ हुआ सम्पन्न

Share This
#IIN

खैराबाद की सुप्रसिद्ध दरगाह हाफिज़िया अस्लामिया में 5 दिवसीय 176 वें उर्स के दूसरे दिन क़ुल शरीफ हुआ सम्पन्न

काजिम हुसैन सीतापुर



 अपने चरित्र को अच्छा बनाएं केवल नाम के मुसलमान न रहें-फुरकान मियां सज्जादानशीन        
 खैराबाद।सीतापुर
स्थानीय दरगाह हाफिज़िया अस्लामिया में चिश्तिया सिलसिले के सुप्रसिद्ध सूफ़ी बुज़ुर्ग व हज़रत ख़्वाजा सुलेमान तौंसवी अलैहिर्रहमा के ख़लीफ़ा हज़रत हाफ़िज़ सय्यदुस सादात मोहम्मद अली शाह उर्फ बड़े हाफिज साहब का 176 वा पांच दिवसीय सालाना उर्स के पहले दिन रात में दरगाह के अन्दर ही स्थित हाफ़िज़ साहब के निवास स्थान से चादर संदल उठाया गया और इसके बाद मज़ार पर संदल अर्पित कर देश मे अमनो अमान सुख व शांति के लिए सज्जादानशीन ने दुआ की तत्पश्चात कार्यक्रम समाप्त हो गया ।
दूसरे दिन प्रातः क़ुरआन ख़्वानी अर्थात क़ुरआन का पाठ भी घर मे उपस्थित लोगों के द्वारा हुआ और सांय काल दरगाह के हाफिज़ी हाल में क़ुल शरीफ का आयोजन किया गया  इस अवसर लॉक डाउन और कोविड 19 की गाइड लाइन का पूरा पालन किया गया जिसके  कारण अन्य प्रांतों तथा अधिक दूर से आने वालों को किसी  भी तरह से उर्स के कार्यक्रम में आने की अनुमति नही मिली  इस अवसर  पर सरकार द्वारा निर्धारित संख्या में ही लोग उपस्थित हुए जिसमे सज्जादानशीन हाजी सैय्यद फुरक़ान मियां , के अलावा दरगाह हज़रत बड़े मखदूम साहब अलैहिर्रहमा के सज्जादानशीन शोएब मियां,मतवल्ली दरगाह सैय्यद इरफान वहीद हाशमी,सैय्यद ग़यास मियां एवम मौलाना सैय्यद हाजी अख़्तर मियां चिश्ती ,क़ारी इस्लाम अहमद आरफी,सलमी मियां,फरजान मियां,इमरान सिद्दीकी, मोइन अहमद,फरमान मियां,सलीम खान,दानियाल आरफी,क़ारी फय्याज, पप्पू,गुड्डू, इस्लाम अहमद,मौलाना सैय्यद अज़हर मियां चिश्ती,मौलाना सैय्यद ग़ुलाम हाफ़िज़ मियां,आदि उपस्थित रहे ,सज्जादानशीन सैय्यद फुरक़ान मियां ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि हम लोगों को अपने बुजुर्गों की शिक्षा पर पूरी तरह से अमल करना चाहिए साथ ही हमे सबसे पहले एक अच्छा इंसान बनना होगा क्योंकि इंसानियत ही से मनुष्य बड़ा बनता है न कि धन दौलत से श्री हाशमी ने कहा कि जब हम अच्छा सद ब्यवहार रखेंगे तो लोगों को उससे फायदा ही पहुचेगा और तभी हम तरक़्क़ी कर पाएंगे इस प्रकारबड़े हाफिज साहब का 176  वां कुल शरीफ सम्पन्न हुआ।अब
3 जुलाई को हाफ़िज़ असलम मियां का उर्स प्रारम्भ होगा जिसमें रात में संदल अर्पित किया जाएगा तथा 4 जुलाई को क़ुल शरीफ होगा।दरगाह और उर्स की सम्पूर्ण ब्यवस्था सज्जादानशीन और मतवल्ली श्री हाशमी के सुपुत्रों के द्वारा की गई।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad