15 अगस्त के पूर्व विस्फोट कर राजधानी लखनऊ को दहलाने की फिराक में थे यूपी एटीएस के हत्थे चढ़े दोनों अतंकवादी। - Ideal India News

Post Top Ad

15 अगस्त के पूर्व विस्फोट कर राजधानी लखनऊ को दहलाने की फिराक में थे यूपी एटीएस के हत्थे चढ़े दोनों अतंकवादी।

Share This
#IIN

15 अगस्त के पूर्व विस्फोट कर राजधानी लखनऊ को दहलाने की फिराक में थे यूपी एटीएस के हत्थे चढ़े दोनों अतंकवादी। 

हरिओम सिंह स्वराज लखनऊ


लखनऊ। यूपी एटीएस की सक्रियता के चलते राजधानी लखनऊ में आतंकवादी संगठन  अलकायदा  का नापाक मंसूबा विफल हुआ। काकोरी थाना क्षेत्र में यूपी एटीस ने अल कायदा समर्थित अंसार गजवातुल हिन्द से जुड़े दो आतंकियों को गिरफ्तार कर आतंकियों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। गिरफ्तार किए गए दोनों आतंकवादी 15 अगस्त के पूर्व लखनऊ के प्रमुख प्रमुख स्थानों पर विस्फोट कर आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की फिराक में थे। इनके कब्जे से आधुनिक असलहे और विस्फोटक सामग्री बरामद हुई है। बरामद विस्फोटक को BDS टीम की सहायता से निष्क्रिय कराया जा रहा है, तथा स्थानीय पुलिस के सहयोग से सर्च ऑपरेशन जारी है। बतादें कि एटीएस उत्तर प्रदेश को यह सूचना प्राप्त हुयी कि आतंकवादी संगठन अल-कायदा का एक सदस्य जिसका नाम उमर हलमण्डी है, को अल-कायदा संगठन द्वारा भारत में अल-कायदा की आतंकवादी गतिविधियों को संचालित करने हेतु निर्देश दिये गये हैं। उमर हलमंडी पाकिस्तान अफगानिस्तान बार्डर क्षेत्र से आतंकवादी गतिविधियां संचालित करता है। उक्त कार्य के लिये उमर हलमण्डी द्वारा भारत में एक्यूआईएस संगठन में सदस्यों की भर्ती तथा उन्हें रेडिक्लाइज करने का कार्य किया जा रहा है। इसी के अन्तर्गत उमर हलमण्डी ने कुछ जेहादी प्रवृत्ति के व्यक्तियों को लखनऊ में चिन्हित नियुक्त कर अल-कायदा के माड्यूल को खड़ा किया है। यह माड्यूल अन्सार गजवातुल हिन्द ( एजीएच) जो अल-कायदा का ही अंग है, के अन्तर्गत आतकी घटनाओं को अंजाम देने के लिये तैयार किया गया है। उक्त अल-कायदा माड्यूल के प्रमुख सदस्यों में मिनहाज, मसीरुद्दीन व शकील का नाम प्रकाश में आया है। इन लोगों ने उमर हलमण्डी के निर्देश पर अपने अन्य सहयोगियों की सहायता से 15 अगस्त के पूर्व उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों विशेषकर लखनऊ में महत्वपूर्ण स्थानों/स्मारकों/भीड़-भाड़ वाले इलाकों में विस्फोट करने, मानव बम आदि के द्वारा आतंकवादी घटना कारित करने की तैयारी की जा रही थी। इसके लिये इनके द्वारा शस्त्र विस्फोटक आदि एकत्र किया गया है।इस सूचना के बाद हरकत में आयी यूपी एटीएस को ज्ञात हुआ कि उपरोक्त घटना को अन्जाम देने हेतु योजना बनाने में मिनहाज अहमद पुत्र सिराज अहमद, निवासी रिंग रोड, बगारिया, जेहटा बरावन कला, दुबग्गा, लखनऊ तथा मसीरूद्दीन पुत्र अमीनुद्दीन निवासी सीतापुर रोड, मोडिबुल्लापुर, लखनऊ मुख्य भूमिका निभा रहे हैं। इस आतंकवादी गिरोह में लखनऊ, कानपुर के इनके अन्य साथी भी शामिल हैं। इनके द्वारा उत्तर प्रदेश में मुख्यतः लखनऊ में कभी भी आतंकवादी घटना कारित की जा सकती है। उक्त सूचना की गंभीरता को देखते हुये आतंकवादियों की गिरफ्तारी हेतु वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा टीमों का गठन कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। इसी क्रम में एक टीम के द्वारा आतंकी अभियुक्त मिनहाज अहमद पुत्र सिराज अहमद, निवासी रिंग रोड, बगारिया, जेहटा बरावन कला, दुबग्गा, लखनऊ के घर पर दबिश दी गयी तो अभियुक्त मिनहाज घर पर मिला उसके घर से भारी मात्रा में विस्फोटक पदार्थ व जामा तलाशी से एक अदद पिस्टल बरामद हुयी, जिसका विस्तृत विवरण तैयार किया जा रहा है। घर से बरामद IED को BDDS टीम की मदद से निष्क्रिय कराया गया। वहीं दूसरी टीम के द्वारा अभियुक्त मसीरूद्दीन पुत्र अमीनुद्दीन, निवासी सीतापुर रोड, मोहिबुल्लापुर, लखनऊ के घर पर दबिश दी गयी तो अभियुक्त के घर से भी भारी मात्रा में विस्फोटक पदार्थ बरामद हुआ। दोनों अभियुक्तों को एटीएस द्वारा हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। अन्य टीमो के द्वारा इन आतंकवादियों के अन्य सहयोगियों की तलाश हेतु विभिन स्थानों पर दबिश दी जा रही है।  पूछताछ के दौरान हिरासत में लिए गए गए अभियुक्तों द्वारा अपने सहयोगियों के घर से भाग जाने की बात बताई गयी है। जिसके क्रम में जनपदीय पुलिस टीम के सहयोग से एटीएस की टीमों के द्वारा क्षेत्र में सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है।प्रेशर कुकर बम (IED) एवं अवैध असलहों को उपलब्ध कराने वाले अन्य लोगो के बारे में पूछ ताछ कर अग्रिम कार्यवाही की जा रही है। फिलहाल काकोरी थाना क्षेत्र पुलिस छावनी में तब्दील हो चुकी है और अभी भी पुलिस व एटीएस का सर्च अभियान जारी है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad