चाचा भतीजा में पिछले एक वर्ष से घरो में चल रही अनबन खुलकर आ गई सङक पर। - Ideal India News

Post Top Ad

चाचा भतीजा में पिछले एक वर्ष से घरो में चल रही अनबन खुलकर आ गई सङक पर।

Share This
#IIN 

चाचा भतीजा में पिछले एक वर्ष से घरो में चल रही अनबन खुलकर आ गई सङक पर।


 राम विलास पासवान की मौत के बाद एलजेपी हुई दो-फाड़।

बागी चाचा पारस को मनाने में जुटे भतीजा चिराग।

बागी सांसदों ने चाचा पारस को चुना पार्टी का नेता।

विश्वनाथ प्रसाद गुप्ता,ब्यूरो चीफ बिहार।

पटना/डेस्क- गत बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश की जदयू को परेशान करने वाली एलजेपी की मुसीबत बढ़ते ही जा रही है। विधानसभा चुनाव में पराजय, उसके बाद पार्टी टूट फिर इकलौते बिधान परिषद सदस्य की जदयू में शामिल होने के बाद इन घटनाओं से उबरने की कोशिश कर रही पार्टी को एक और बड़ा झटका लगा है। एलजेपी के छह में से पांच सांसदों ने लोकसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर सदन में अलग गुट के रूप में मान्यता देने का अनुरोध किया है। इन पांचों सांसदों का नेतृत्व राम विलास पासवान के छोटे भाई और हाजीपुर के सांसद पशुपति नाथ पारस कर रहे हैं।पशुपति पारस ने कहा है कि एलेजपी से अलग मान्यता के लिए वे लोकसभा अध्यक्ष व चुनाव आयोग से मिलेंगे। इस बीच चिराग पासवान ने अपने बागी चाचा पशुपति पारस को मनाने की कोशिश तेज कर दी है। वे उनके घर के पास गाड़ी में 20 मिनट तक इंतजार करने के बाद  अंदर गए। इसी बीच सर्वसम्मति से पशुपति कुमार पारस को पार्टी का नेता चुन लिया गया। चौधरी महबूब अली कैसर को उपनेता चुने जाने की खबर है।
संस्‍थापक राम विलास पासवान की मौत के एक साल के भीतर ही पार्टी दो-फाड़ हो गई है। इस टूट को हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए जाने वाले मंत्रिमंडल विस्‍तार से भी जोड़कर देखा जा रहा है। एलजेपी में टूट की पटकथा के पीछे जनता दल यूनाइटेड  के एक दिग्गज सांसद का नाम आ रहा है। बागी पांचों सांसदों पशुपति पारस, प्रिंस पासवान, वीणा सिंह, चंदन कुमार और महबूब अली कैसर के जेडीयू में शामिल होने की भी चर्चा है। इसके साथ लोकसभा में चिराग अकेले पड़ जाएंगे।

लोकसभा के मानसून सत्र से पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल व विस्‍तार की संभावना है। राम विलास पासवान के निधन के बाद से वह स्‍थान रिक्त है।
ऐसे में  देखना यह है कि क्‍या एलजेपी के  इस नए गुट को मंत्रिमंडल में जगह मिलती है। वैसे, चर्चा है कि पशुपति कुमार पारस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में जेडीयू कोटे से मंत्री भी बनाए जा सकते हैं।



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad