सेवानिवृत्ति के तुरंत बाद सरकारी कर्मियों के निजी क्षेत्र में नौकरी करने पर गंभीर सवाल - Ideal India News

Post Top Ad

सेवानिवृत्ति के तुरंत बाद सरकारी कर्मियों के निजी क्षेत्र में नौकरी करने पर गंभीर सवाल

Share This
#IIN



नई दिल्ली

 केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) ने गुरुवार को कहा कि सेवानिवृत्ति के बाद सरकारी कर्मचारियों द्वारा अनिवार्य रूप से शांत बैठने की अवधि (कूलिंग आफ पीरियड) पूरी किए बिना निजी क्षेत्र के संगठनों में नौकरी करना गंभीर कदाचार है। आयोग ने अपने एक आदेश में यह भी कहा कि सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारियों को नौकरी देने से पहले सभी सरकारी संगठनों को अनिवार्य रूप से सीवीसी की मंजूरी लेनी चाहिए।

सीवीसी ने केंद्र सरकार के सभी विभागों के सचिवों और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रमुखों को जारी आदेश में कहा, 'कुछ अवसरों पर यह देखा गया है कि सरकारी संगठनों से सेवानिवृत्ति के तुरंत बाद अधिकारी निजी क्षेत्र के संगठनों में पूर्णकालिक या संविदा पर काम कर रहे हैं। अक्सर इस तरह के प्रस्ताव को स्वीकर करने से पहले संबंधित संगठनों के नियमों के तहत तय कूलिंग आफ पीरियड के खत्म होने का इंतजार भी नहीं किया जाता। अधिकारियों व कर्मचारियों की यह हरकत गंभीर कदाचार है।'

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad