तहसीलदार राजातालाब के खिलाफ अधिवक्ताओं ने किया धरना प्रदर्शन। - Ideal India News

Post Top Ad

तहसीलदार राजातालाब के खिलाफ अधिवक्ताओं ने किया धरना प्रदर्शन।

Share This
#IIN

जय चन्द  वाराणसी





तहसीलदार राजातालाब के खिलाफ अधिवक्ताओं ने किया धरना प्रदर्शन।

वाराणसी। दी तहसील बार एसोसिएशन राजातालाब के अधिवक्ताओं ने बुधवार को राजातालाब तहसीलदार मीनाक्षी पांडेय पर दुर्व्यवहार व तानाशाही का आरोप लगाते हुए धरना प्रदर्शन किया। अधिवक्ताओं का आरोप है कि नवागत तहसीलदार का व्यवहार अधिवक्ताओं के प्रति बेहद खराब और तानाशाही है। दी तहसील बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष सुशील कुमार सिंह ने कहा कि राजातालाब तहसीलदार राजातालाब को यही नहीं पता कि बेंच पर बैठे अधिकारियों का व्यवहार अधिवक्ताओं के साथ कैसा होना चाहिए।उन्होंने आरोप लगाते हुए बताया कि अधिवक्ता मनोज चौबे ने एक पत्रावली में अवसर मांगा, जिस पर उन्होंने अवसर देने से साफ मना कर दिया। जबकि कोरोना काल में सुप्रिमकोर्ट व हाईकोर्ट ने भी यह आदेश दिया है कि यदि कोई अधिवक्ता अवसर मांगता है तो कितनी भी पुरानी फाइलें हो उसे अवसर देना होगा।    
राजातालाब तहसीलदार ने जो डंड लगाया वह कभी ट्रेजरी चालान से नहीं भरा जाता, फिर भी अधिवक्ता मनोज चौबे न्यायालय के आदेश का पालन करते हुए वहां गए पर वहां कोई त्रुटी होने के कारण ट्रेजरी शुल्क जमा नहीं हो पाया, जिसके बाद अधिवक्ता मनोज चौबे ने तहसीलदार से निवेदन किया, जिसपर उन्होंने एक नहीं सुनी और अधिवक्ता के खिलाफ तानाशाही रवईया अपनाते हुए अपशब्द बोला और अधिवक्ता के खिलाफ ऑर्डर शीट लिख दिया। 
अधिवक्ताओं की मांग है कि तहसीलदार द्वारा लिखा गया ऑर्डर शीट वापस लिया जाए और यहां पर एक रिकार्ड रुम भी बनाया जाए। क्योंकि अधिकारी अवसर नहीं देते और रिकार्ड रुम चालू नहीं है तो हम सबूत कहां से दे पाएंगे, तो जब तक रिकार्ड रुम शुरु नहीं हो जाता और अधिवक्ता के खिलाफ लिखी गई ऑर्डर शीट वापस नहीं ली जाती और तहसीलदार के व्यवहार में परिवर्तन नहीं आएगा हमारा धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। इसके अलावा तब तक सभी अधिवक्ता न्यायिक कार्य से भी विरत रहेंगे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad