बिहार में लड़कियों की शिक्षा को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने एक और किया बड़ा एलान। - Ideal India News

Post Top Ad

बिहार में लड़कियों की शिक्षा को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने एक और किया बड़ा एलान।

Share This
#IIN

विश्वनाथ प्रसाद गुप्ता,ब्यूरो चीफ बिहार।

बिहार में लड़कियों की शिक्षा को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने एक और किया बड़ा एलान।



तकनीकी व मेडिकल कालेजों में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत सीट होंगे आरक्षित।

पटना।  राज्य सरकार महिलाओं को सशक्त एवं स्वालम्बी बनाने हेतु अपने द्वारा किये जा रहे लगातार प्रयास की कड़ी में एक और बड़ी पहल करने जा रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसकी घोषणा कर दी है।सरकार लड़कियों की संख्या तकनीकि एवं मेडिकल शिक्षा में बढ़ाने के लिए इंजीनियरिंग एवं मेडिकल कॉलेजों में होने वाले नामांकन में आरक्षण की व्यवस्था करने जा रही हैं।न्यूनतम एक तिहाई सीटें छात्राओं के लिए आरक्षित की जाएगी।राज्य सरकार अभियंत्रण विश्वविद्यालय तथा चिकित्सा विश्वविद्यालय स्थापित करने को लेकर सरकार विधेयक लाने की तैयारी भी कर रही है।



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज इस संबंध में विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। अधिकारियों ने इस संबंध में मुख्यमंत्री के सामने प्रेजेंटेशन दिया,विभागीय  सचिव लोकेश कुमार सिंह प्रस्तुतीकरण के माध्यम से द बिहार इंजीनियरिंग यूनिवर्सिटी एक्ट-2021 तथा पावर एंड फंक्शन ऑफ यूनिवर्सिटी जूरिडिक्शन एवं अन्य प्रोविजन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने बिहार यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज तथा पावर एंड फंक्शन ऑफ़ यूनिवर्सिटी के संबंध में बिधवत जानकारी दी।
सीएम नीतीश ने मीटिंग में कहा कि अभियंत्रण विश्वविद्यालय एवं चिकित्सा विश्वविद्यालय स्थापित होने से इंजीनियरिंग कॉलेजों एवं मेडिकल कॉलेजों का बेहतर ढंग से प्रबंधन हो सकेगा। साथ ही कॉलेजों में अध्यापन कार्य बेहतर ढंग से नियंत्रित किए जा सकेंगे।सीएम नीतीश ने संबंधित अधिकारियों से कहा कि राज्य के इंजीनियरिंग एवं मेडिकल कॉलेजों में होने वाले नामांकन में न्यूनतम एक तिहाई सीटें लड़कियों के लिए आरक्षित की जाए। उन्होंने कहा कि 33 फीसदी सीट छात्राओं के लिए आरक्षित करने से इस कोर्स को करने वाली छात्राओं की संख्या और बढ़ेगी। सीएम ने मीटिंग में कहा कि अभियंत्रण विश्वविद्यालय एवं चिकित्सा विश्वविद्यालय स्थापित होने से इंजीनियरिंग कॉलेजों एवं मेडिकल कॉलेजों का बेहतर ढंग से प्रबंधन हो सकेगा। साथ ही कॉलेजों में अध्यापन कार्य बेहतर ढंग से नियंत्रित किए जा सकेंगे। सीएम ने कहा कि राज्य के सभी जिलों में इंजीनियरिंग कॉलेज खोले जा रहे हैं।कई मेडिकल कॉलेज भी खोले गए हैं। सरकार का उद्देश्य है कि इंजीनियरिंग एवं मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए बिहार के छात्र व छात्राएं बाहर नहीं जाएं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad