बाराबंकी में ब्लैक फंगस से महिला की मौत - Ideal India News

Post Top Ad

बाराबंकी में ब्लैक फंगस से महिला की मौत

Share This
#IIN


Hariom Singh Swaraj  

बाराबंकी

 ब्लैक फंगस से जिले में पहली मौत से अस्पतालों की असंवेदनशीलता एक बार फिर सामने आई है। मृतका के परिवारजन ने सफेदाबाद स्थित हिन्द अस्पताल के चिकित्सकों पर केजीएमयू में बेड उपलब्ध होने गलत जानकारी देकर गुमराह करने का आरोप लगाया गया है। जबकि, वहां बेड के लिए16 घंटे से अधिक समय तक इंतजार करना पड़ा और इलाज के अभाव में महिला की मौत हो गई। उधर, जिले में ब्लैक फंगस से पहली मौत के बाद प्रशासन अलर्ट हो गया है और गाइड लाइन जारी की है। अस्पताल में लापरवाही का यह कोई पहला मामला नहीं है। 30 मई को सिरौलीगौसपुर के सौ शैय्या अस्पताल में इलाज न मिलने पर मासूम की मौत हो चुकी है, जोकि चर्चा में है।

 शहर के धनोखर चौराहा निवासी मृतका कुसुम वैश्य के पुत्र विवेक वैश्य ने बताया कि उनकी मां बीती 20 अप्रैल को कोविड संक्रमित हो गई थी। हालत बिगड़ने पर उन्हें सफेदाबाद स्थित हिंद अस्पताल में 29 अप्रैल को भर्ती कराया था। यहां पर चिकित्सकों ने जांच के बाद ब्लैक फंगस होना बताया था। तीन जून को उनकी मां को लखनऊ के केजीएमयू में बेड उपलब्ध होने की बात कहकर रेफर कर दिया गया, जबकि वहां पर 16 घंटे से अधिक समय तक उनकी मां को बेड नहीं मिला। वह बिना उपचार कभी स्ट्रेचर तो कभी कार पर पड़ी रहीं। विवेक ने आरोप लगाया कि एक व्यक्ति को जब उन्होंने 30 हजार रुपये दिए तब जाकर उन्हें वेंटीलेटर मिला, लेकिन बेड मिलने के एक घंटे के भीतर मौत हो गई। उनका कहना है कि यदि तत्काल उनकी मां को समय पर बेड मिलकर उपचार शुरू हो जाता तो उनकी जान बच सकती थी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad