बाल श्रम मुक्ति के लिये बच्चो की "आवाज" - Ideal India News

Post Top Ad

बाल श्रम मुक्ति के लिये बच्चो की "आवाज"

Share This
#IIN

मनोज कुमार पाल  जौनपुर 

बाल श्रम  मुक्ति के लिये बच्चो की "आवाज"

जिला- जौनपुर, उत्तर प्रदेश 


विश्व बाल श्रम विरोध दिवस 12 जून के अवसर पर बाल पंचायत(बच्चो के हित में बच्चो द्वारा बनाया गया समूह) के द्वारा हयुमन लिबर्टी नेटवर्क की पाटनर संस्था मानव संसाधन एवं महिला विकास संस्थान के द्वारा बच्चो के साथ बालश्रम, बालसंरक्षण के मुद्दे पर कार्यकरत अधिकारी के साथ एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी के माध्यम से पुर्वी उत्तर प्रदेश के 5 जिलो मीरजापुर, वाराणसी, चन्दौली, भदोही और जौनपुर के 25 बच्चो द्वारा जिले स्तर पर कार्यरत अधिकरी से बात किया गया। जहा सभी अधिकारीयो द्वारा बच्चो को बालश्रम के रोकथाम पर चर्चा किया गया।



कार्यक्रम में मिर्जापुर जिले के बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री बप्पा रावल जी, वाराणसी जिले के श्रम प्रर्वतन अधिकारी श्री सुनील कुमार सिन्हा, वाराणसी जिले के बाल संरक्षण अधिकारी श्रीमती निरूपमा सिंह ,चदौली जिले के बाल संरक्षण अधिकारी श्री किशन वर्मा, भदोही जिले के बाल संरक्षण अधिकारी श्रीमती मीना गुप्ता, जौनपुर से बाल संरक्षण अधिकारी चन्दन राय, चाइल्ड राइटस से राजकुमार और संजय उपाध्याय ने बच्चो के साथ इस संगोष्ठी के माध्यम से उनके बारे में सुना और उनको बालश्रम के रोकथाम पर चर्चा किया।
वारणसी जिले से 
संगोष्ठी के माध्यम सें वारणसी से निलम,सुरज, मिर्जापुर से चन्दन,विजय,अजित,भदोही से अमरजीत,प्रिती, जौनपुर से प्रमोद,मनीष, अमित,पंकज,रवी इत्यादि बच्चो ने अपने गाँव समाज को बालश्रम मुक्त बनाने के लिये निम्न माँग की-
ऽ बालश्रम के सभी रूपो पर पतिबंध लगाया जाना चाहिये। 18 वर्ष तक के किसी भी बचचो को स्कुल के बाद या छुट्टी के दौरान किसी भी घरेलु व्यवसाय में काम करने की अनुमति नही किया जाना चाहिये।
ऽ गाँव में प्रत्येक बच्चे विद्यालय से जुडे रहे और जो बच्चे विद्यालय नही जा रहे उनके विद्यालय न जाने के कारण के लिये सर्वेक्षण कराया जाये और उनको विद्यालय से जोड़ा जाये।
ऽ ग्राम स्तर की बाल संरक्षण समितियो सं लेकर सभी स्तरों पर बाल संरक्षण समिति को सक्रिय किया जाये।
ऽ माध्याह भोजन योजना के उचित कार्यान्वयन और सभी स्तरो पर स्वास्थ्य सुविधाओ के जरिये बच्चो के स्वास्थ्य और पोषण सम्बन्धी जरूरतो को पुरा किया जाये।
ऽ इस वर्ष जब ग्राम पंचायत विकास योजना बनायी जाये उसमें बच्चो के सुरक्षा के लिये योजना बनायी जाये और ग्राम पंचायत वार्षिक बजट में गाँव में बाल श्रम को रोकने के लिये बजट बनाया जाये।
बच्चो से बात करते समय वाराणसी जिले के बाल संरक्षण अधिकारी निरूपमा जी द्वारा बच्चो को बाल सुरक्षा व स्पान्सरशीप योजना के बारे में बताया गया वही वाराणसी जिले के श्रम प्रर्वतन अधिकारी श्री सुनील कुमार सिन्हा द्वारा बच्चो को बाल श्रम के रोकथाम कानुन के बारे में जानकारी देते हुये बाल श्रम के खातमें पर प्रयास डाला गाया, मिर्जापुर जिले के बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष श्री बप्पा रावल जी द्वारा बच्चो को बाल संरक्षण के बारे में बताया गया। 
इसी क्रम में आज विश्व बाल श्रम विरोध दिवस 12 जून के अवसर पर बच्चो ने पोस्टर के माध्यम से समाज को बालश्रम मुक्त बनाने के लिये अपील की और नवनिवार्चित ग्राम प्रधान द्वारा गाव को बालश्रम मुक्त बनाने के लिये पहल की गयी व 5 जिलो के 6000 बच्चो ने अपना पाँचसुत्रीय माँगपत्र प्रधान को दिया व गाँव को बालश्रम मुक्त बनाने के लिये अपनी माँग किया गया।

नीलम, पंकज ,सुरज , रवी, अजीत, अभीशेक,मनीष,प्रमोद एवं अनेक बच्चों ने सक्रिय भूमिका निभाई।

धन्यवाद

राजकुमार कुशवाह
कार्यक्रम संयोजक
मो0नं0- 9453222815

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad