घर में कभी न लगाएं शनिदेव की प्रतिमा - Ideal India News

Post Top Ad

घर में कभी न लगाएं शनिदेव की प्रतिमा

Share This
#IIN



हर में मंदिर का होना और सुबह-शाम भगवान की पूजा अर्चना करना हिंदू धर्म की पहचान है. इसीलिए हर घर के मंदिर में भगवान की कोई ना कोई मूर्ति जरूर होती है. भगवान की पूजा करने से मन को शांति मिलती है और घर की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है. ऐसे में एक बात का खास ख्याल रखना चाहिए कि घर के मंदिर में हमने जिस मूर्ति की स्थापना की है. वह मूर्तियां किस भगवान की हैं. सनातन धर्म के मुताबिक, घर के मंदिर में आप किसी भी देवी-देवता की मूर्ति की स्थापना कर सकते हैं हालांकि भगवान शनि या शनि देव की मूर्ति की स्थापना घर के मंदिर में नहीं करनी चाहिए.

यही नहीं घर के किसी भी कोने में शनिदेव की पूजा भी नहीं करनी चाहिए. ऐसे करने से घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव ज्यादा हो जाता है. जिससे आपको नुकसान होने की संभावना भी है. अब सबसे जरूरी बात है कि इसके अलावा भी कोई ऐसा कारण है जिसके चलते शनिदेव की मूर्ति घर में नहीं होनी चाहिए. दरअसल, शनिदेव की प्रतिमा घर में इसलिए नहीं रखनी चाहिए क्योंकि शास्त्रों के अनुसार शनिदेव की मूर्ति घर में रखने की मनाही होती है. इसके अलावा शनिदेव की पूजा घर के बाहर मंदिर के किसी भी मंदिर में विधि विधान से की जानी चाहिए.

क्योंकि शनिदेव को श्राप मिला हुआ है, जिसके अनुसार वे जिस पर भी अपनी दृष्टि डालेंगे उसका अनिष्ट हो जायेगा. इसलिए शनिदेव की पूजा घर में नहीं करनी चाहिए. साथ ही शनि की दृष्टि से बचने के लिये घर पर उसकी मूर्ति नहीं रखना चाहिए. साथ ही शनिदेव के दर्शन करने में भी सावधानियां बरतनी चाहिए.

सामान्यतः हम जब भी देवी-देवताओं के दर्शन करते हैं तो उनके चेहरे की तरफ उनकी आंखों में देखकर करते हैं, लेकिन शनिदेव के दर्शन करते समय एक बात का ध्यान रखना चाहिए कि उनकी आंखों में देखकर दर्शन ना करें. इसके साथ ही अगर घर में शनिदेव की पूजा करें तो उनका मन में स्मरण कर पूजा कर सकते हैं. इससे शनिदेव प्रसन्न होते हैं. इसके अलावा घर में राहु-केतु, भैरव और नटराज की मूर्तियों को भी नहीं रखना चाहिए. इनकी भी आराधना घर के बाहर की जाती है.

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad