जान की चिंता जताते हुए आसाराम को जमानत न देने की गुहार - Ideal India News

Post Top Ad

जान की चिंता जताते हुए आसाराम को जमानत न देने की गुहार

Share This
#IIN


नई दिल्ली

 आसाराम से जुड़े दुष्कर्म मामले में पीड़ि‍त परिवार के सदस्यों की जान की चिंता जताते हुए पीडि़ता के पिता सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। पिता ने दुष्कर्म मामले में उम्रकैद की सजा भुगत रहे आसाराम को जमानत पर रिहा न किए जाने की शीर्ष न्यायालय से गुजारिश की है।

आसाराम की ओर से दाखिल अर्जी में उसकी खराब सेहत का हवाला देते हुए बाकी सजा निलंबित करते हुए उसे इलाज के लिए जमानत पर रिहा करने की मांग की गई है। याचिका में कहा गया है कि आसाराम को अपना इलाज हरिद्वार में बने आयुर्वेदिक केंद्र में कराना है।

आसाराम को जोधपुर की अदालत ने 25 अप्रैल, 2018 को नाबालिग लड़की से दुष्कर्म मामले में आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। आसाराम ने बालिका से 2013 में अपने आश्रम में दुष्कर्म किया था।

पीडि़ता के पिता ने अपनी अर्जी में कहा है कि आसाराम बहुत ज्यादा प्रभावशाली और राजनीतिक रूप से सशक्त व्यक्ति है। उसके देश भर में दसियों लाख अंधभक्त हैं, जो उसके इशारे पर कुछ भी कर सकते हैं। उनके नियुक्त भाड़े के हत्यारे कार्तिक हलदर ने कई चश्मदीद गवाहों की हत्या की है और हमला कर उन्हें घायल किया है। पकड़े जाने पर कार्तिक ने पुलिस को बताया था कि पीडि़ता के पिता की हत्या की सुपारी भी उसे दी गई थी।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad