साइबर ठगी के खिलाफ डेढ़ दर्जन राज्यों में पुलिस की दबिश , 350 आरोपित चिन्हित, 300 मोबाइल बरामद - Ideal India News

Post Top Ad

साइबर ठगी के खिलाफ डेढ़ दर्जन राज्यों में पुलिस की दबिश , 350 आरोपित चिन्हित, 300 मोबाइल बरामद

Share This
#IIN 

कमल कुमार कश्यप 
रांची झारखंड बिहार

 साइबर ठगी के खिलाफ डेढ़ दर्जन राज्यों में पुलिस की दबिश , 350 आरोपित चिन्हित, 300 मोबाइल बरामद


साइबर ठगी के मामले में मध्य प्रदेश पुलिस ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से झारखंड के रांची, सराय केला और देवघर में छापेमारी कर 16 साइबर ठगों को गिरफ्तार किया है |इनमें रांची से दो, सरायकेला से 1,तथा देवघर से 13 लोगों की गिरफ्तारी हुई है| देवघर से गिरफ्तार ठगों में मध्य प्रदेश पुलिस का वांछित साइबर ठग गिरोह का सरगना संजय महतो भी शामिल है| झारखंड के  देवघर से महतो और 12 अन्य रांची से सुशांत अग्रवाल व प्रभात कुमार तथा सरायकेला से विकास उर्फ नितिन कुमार शामिल है| इसके अलावा उत्तर प्रदेश के मऊ से मो हम्माद नामक आरोपित को गिरफ्तार किया गया है, और 6 लोगों को हिरासत में लिया गया है| मध्य प्रदेश से बिन व मनोज राणा और आंध्र प्रदेश के चित्तूर से हरी और श्रवण कुमार को भी गिरफ्तार किया गया है |

ज्ञात हो कि साइबर धोखाधड़ी के खिलाफ केंद्र सरकार ने देशव्यापी अभियान छेड़ा है| अपनी तरह के इस पहले अभियान में 18 राज्यों में सक्रिय साइबर ठगों के बड़े गिरोह का पर्दाफाश हुआ है| गृह मंत्रालय की साइबर सुरक्षा इकाई के साथ मिलकर कई राज्यों को पुलिस कांटेक्ट कंपनियों और जांच एजेंसियों ने 350 आरोपित आरोपियों की पहचान की है| जिनमें से 21 को गिरफ्तार भी कर लिया गया है| उनके पास से 333 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं ,और 100 बैंक खाते भी सीज किए गए हैं| संदेह के आधार पर 900 मोबाइल फोन, 1000 बैंक अकाउंट और सैकड़ों यूपी आई और  ई कॉमर्स आईडी की भी जांच की जा रही है|

 जानकारों का कहना है की गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि साइबर ठगों का यह गिरोह आपस में तालमेल से लोगों को शिकार बनाता था| राज्यों में फैले गिरोह के सदस्य अलग-अलग भूमिका निभाते थे| पुलिस के लिए साजिश का पर्दाफाश करना मुश्किल हो जाता था|

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad